Monday, September 20, 2021
Homeदिल्लीदिल्ली से वाराणसी के बीच 'बुलेट ट्रेन' चलाने की तैयारी, 300 KM...

दिल्ली से वाराणसी के बीच ‘बुलेट ट्रेन’ चलाने की तैयारी, 300 KM तक होगी रफ्तार

  • रेलवे ने 6 हाई स्पीड कॉरिडोर किया चिह्नित
  • एक साल में तैयार होगा डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट
  • दिल्ली-नोएडा-आगरा-वाराणसी भी शामिल

भारतीय रेल ने 6 कॉरिडोर को चिह्नित किया है. इसकी डीपीआर एक साल में तैयार हो जाएगी. इनमें हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन की रफ्तार 300 किलोमीटर प्रति घंटे होगी, जबकि सेमी हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी. ये कॉरिडोर कई महानगरों से होकर गुजरेगा. इनमें दिल्ली, नोएडा, आगरा, लखनऊ, वाराणसी, जयपुर, अहमदाबाद, पुणे, हैदराबाद और बेंगलुरु शामिल है.

देश को हाई स्पीड और सेमी हाई स्पीड कॉरिडोर का तोहफा मिलेगा. इसके लिए रेलवे ने 6 कॉरिडोर को चिह्नित किया है. एक साल के अंदर इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार हो जाएगी. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक यह जानकारी रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बुधवार को दी.

इन 6 कॉरिडोर में दिल्ली-नोएडा-आगरा-वाराणसी के बीच 865 किलोमीटर की दूरी भी शामिल है. उन्होंने बताया कि मुंबई अहमदाबाद हाई स्पीड कॉरिडोर पर पहले ही निर्माण कार्य चल रहा है.

जिन छह कॉरिडोर को चिह्नित किया गया है उनमें कई महानगर शामिल हैं.

1. दिल्ली-नोएडा-आगरा-लखनऊ-वाराणसी (865 किलोमीटर)

2. दिल्ली-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद (886 किलोमीटर)

3. मुंबई-नासिक-नागपुर (753 किलोमीटर)

4. मुंबई-पुणे-हैदराबाद (711 किलोमीटर)

5. चेन्नई-बेंगलुरु-मैसूर (435 किलोमीटर)

6. दिल्ली-चंडीगढ़-लुधियाना-जालंधर-अमृतसर (459 किलोमीटर)

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा, “रेलवे ने हाई स्पीड और सेमी हाई स्पीड कॉरिडोर को चिह्नित किया है. इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) एक साल के अंदर तैयार कर ली जाएगी. भूमि उपलब्धता और इन रूटों पर ट्रैफिक क्षमता का अध्ययन कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी. इसके बाद यह तय किया जाएगा कि कौन हाई स्पीड और कौन सेमी हाई स्पीड कॉरिडोर होगा.”

मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन

आपको बता दें कि बुलेट ट्रेन मोदी सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे ने सितंबर 2017 में मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन की नींव रखी थी. दिसंबर 2017 से इस प्रोजेक्ट का काम शुरू भी हो गया था.

इस प्रोजेक्ट की प्राथमिकता को देखते हुए इसकी डेडलाइन अगस्त 2023 से कम कर अगस्त 2022 कर दी गई थी. बता दें कि बुलेट ट्रेन के आने से मुंबई और अहमदाबाद के बीच की 500 किमी की दूरी को 320-350 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तय करेगी. दोनों शहरों के बीच में 12 स्टेशन होंगे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments