Friday, September 17, 2021
Homeबिहारजेल में बंद कैदी' ने लूटा 55 किलो सोना, सबसे बड़ी लूट...

जेल में बंद कैदी’ ने लूटा 55 किलो सोना, सबसे बड़ी लूट में पुलिस की लापरवाही

  • रिकॉर्ड के मुताबिक जेल में बंद था कैदी, पुलिस के उड़े होश
  • CCTV में कैद हुई तस्वीरें, पुलिस को आरोपियों की तलाश

जेल में बंद अपराधियों के लूट, हत्या और अपराध की वारदात की साजिश रचने के किस्से आपने कई बार सुने होंगे. लेकिन क्या आपने किसी ऐसी वारदात के बारे में सुना है जिसे जेल में बंद किसी अपराधी ने खुद अंजाम दिया हो. ऐसा ही मामला बिहार के हाजीपुर से सामने आया है जहां 55 किलो सोने की लूट में एक ऐसा अपराधी भी शामिल था जो रिकॉर्ड के मुताबिक जेल में बंद था. इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस के होश उड़ गए.

पेशी के दौरान भागा था कैदी

हाजीपुर में हुए सोना लूट कांड की जांच में जब पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर तीन अपराधियों के पोस्टर जारी किए तो उसमें से एक मुकुल राय का था, जो पिछले महीनों से मुजफ्फरपुर के रिमांड होम में बंद था. पुलिस जब उससे पूछताछ करने रिमांड होम पहुंची तो पता चला कि वो वारदात से कुछ दिन पहले पेशी के दौरान भाग निकला. लेकिन पुलिस को इसकी कोई सूचना नहीं थी. अब जब मामला सामने आया तो पुलिस ने उस पर केस दर्ज किया है. लेकिन तब तक मुकुल 55 किलो सोने को लूट कर गायब हो चुका है. ‘आजतक’ पर खबर आने के बाद मुजफ्फरपुर के आईजी गणेश कुमार ने जांच के आदेश दिए हैं.

17 दिन पहले से थी लूट की तैयारी

हाजीपुर में 23 नवंबर को एक निजी फाइनेंस कंपनी से 55 किलो सोने की लूट हो गई. लेकिन उससे ठीक 17 दिन पहले इसकी भूमिका तैयार हो गई थी. यानी 6 नवंबर को मुकुल राय को मुजफ्फरपुर रिमांड होम से हाजीपुर के कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया. मुकुल राय के खिलाफ लूट, हत्या के 7 मामले दर्ज हैं और उसने ज्यादातर वारदात वैशाली जिले में किए हैं.

हाजीपुर कोर्ट में जब उसे पेश करने के बाद जब पुलिस लौट रही थी, उसी समय चार हथियारबंद अपराधी कैदी वैन को रोककर मुकुल को पुलिस के सामने भगाकर ले गए. पेशी कराने आई पुलिस ने इसकी जानकारी स्थानीय थाने को न देकर मुजफ्फरपुर रिमांड होम के अधीक्षक को बताई. रिमांड होम के अधीक्षक ने पत्र के जरिये हाजीपुर पुलिस को इसकी जानकारी दी जो 23 नवंबर यानी जिस दिन हाजीपुर में सोने की लूट हुई उस दिन तक नहीं पहुंची.

लेकिन जिस फाइनेंस कंपनी से लूट हुई वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में मुकुल की तस्वीर कैद हो गई. उसी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जिन तीन अपराधियों के पोस्टर पुलिस ने जारी किए उनमें से मुकुल राय भी था. मुकुल राय का पोस्टर जारी होने के बाद पुलिस को पता चला कि जिसे वो पोस्टर लगाकर ढूंढ रही है वो मुजफ्फरपुर रिमांड होम में बंद है. भागी-भागी जब पुलिस रिमांड होम पहुंची तो पता चला वो फरार हो चुका है. फिर 27 नवंबर को उसकी एफआईआर दर्ज कर पुलिस अब उसकी तलाश कर रही है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments