अमेरिका और तालिबान के बीच हुई कैदियों की अदला-बदली

0
33

तालिबान ने एक प्रमुख सहयोगी की रिहाई के बदले में दो साल से अधिक समय तक हिरासत में रखे गए अमेरिकी नौसेना के एक दिग्गज को आज संयुक्त राज्य अमेरिका को सौंप दिया. यह जानकारी अफगानिस्तान के विदेश मंत्री अमीर खान मुत्ताकी ने दी है.विदेश मंत्री अमीर खान मुत्ताकी ने राजधानी में एक सम्मेलन में कहा, “आज, मार्क फ्रेरिच को अमेरिका को सौंप दिया गया और हाजी बशीर नूरजई को काबुल हवाई अड्डे पर हमें सौंप दिया गया.” अमीर खान मुत्ताकी ने कहा कि मार्क फ्रेरिच का 2020 में अपहरण कर लिया गया था. वहीं विदेश मंत्री ने यह भी बताया कि तालिबान के सहयोगी हाजी बशीर नूरजई को हेरोइन तस्करी के लिए अमेरिका में 17 साल के लिए कैद किया गया था. मुत्ताकी ने कहा कि ये अदल-बदली ‘लंबी बातचीत के बाद’ हुई. अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक, “अमेरिकी नौसेना के दिग्गज अफगानिस्तान में निर्माण परियोजनाओं पर एक सिविल इंजीनियर के रूप में काम कर रहे थे, जब उनका अपहरण कर लिया गया था.”अफगानिस्तान सरकार के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने सोमवार को एएफपी को बताया कि नूरजई के पास तालिबान में कोई आधिकारिक पद नहीं था, लेकिन 1990 के दशक में कट्टरपंथी इस्लामी आंदोलन के रूप में उभरने के बाद नूरजई ने ‘हथियारों सहित मजबूत समर्थन प्रदान किया.’

हाल ही में रिहा हुए बशीर नूरजई ने सोमवार को काबुल में एक सभा में कहा कि अमेरिकी नागरिक मार्क फ्रेरिच के लिए उनका आदान-प्रदान अफगानिस्तान और अमेरिका के बीच समस्याओं को हल करने में मदद करेगा. आपको बता दें कि नूरजई ने मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में लगभग दो दशक जेल में बिताए. वह कथित तौर पर तालिबान आंदोलन के संस्थापक मुल्ला मोहम्मद उमर के करीबी थे.नूरजई ने 2001 के बाद अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों से संपर्क किया और अमेरिका की यात्रा की. 2005 में जब नूरजई न्यूयॉर्क में थे, तब उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था और एक अमेरिकी अदालत ने उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी.रॉयटर्स के अनुसार, नूरजई के वकील ने बाद में उनके मुवक्किल के ड्रग डीलर होने से इनकार किया और तर्क दिया कि आरोपों को खारिज कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि अमेरिकी सरकार के अधिकारियों ने उन्हें विश्वास दिलाया कि उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here