रजनीकांत ने कहा कि चुनाव के बाद वह ऐसी सरकार बनाएंगे, जो जाति, धर्म और सम्प्रदाय से ऊपर उठकर काम करेगी। उन्होंने कहा कि वह अपनी सरकार बनाकर राज्य की राजनीतिक तस्वीर को पूरी तरह से बदल देंगे। उनकी सरकार सबकी बेहतरी के लिए काम करेगी।

वहीं, सोमवार को अपनी पार्टी के अधिकारियों से अहम बैठक के बाद उन्होंने कहा था कि बैठक में जिला सचिवों के साथ उन्होंने अपने विचारों का आदान-प्रदान किया। आगे बोलते हुए रजनीकांत ने कहा था कि पार्टी नेताओं ने उनका साथ दिया है और वह कोई भी फैसला लेते हैं तो सभी पार्टी नेता उनका समर्थन करेंगे। इसके साथ ही मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा था कि राजनीति में एंट्री लेने पर वह जल्द ही एलान करेंगे।

ज्ञात हो, हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह ने तमिलनाडु का दौरा किया था। इसके बाद वहां की राजनीति में चुनाव को लेकर सभी दलों में सक्रियता बढ़ गई। ऐसे में अब रजनीकांत का पार्टी को लेकर एक बड़ा एलान इस बात की गवाही है कि वे चुनावी जंग में मैदान में उतरने का मन बना लिए हैं। बता दें कि अगले साल राज्य में विधानसभा चुनाव होंगे। ऐसे में रजनीकांत की राजनीति में एंट्री को लेकर संशय लगभग खत्म हो गया है।