उन्‍होंने कहा कि हमें बायोटेरियोरिज्म, ट्रांसनैशनल ट्रैफिकिंग और महामारी संबंधी बीमारियों के खतरों को दूर करने के अपने प्रयासों को जारी रखने की आवश्यकता है। पिछले दशक में एडीएमएम इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता को बढ़ाया है।

बता दें कि आज यानि 13 दिसंबर को आसियान (ASEAN) की दसवीं वर्षगांठ हैं। इसी के चलते यह बैठक आयोजित की गई है। राजनाथ सिंह बुधवार को इसकी जानकारी दी थी कि वह मंत्रियों की बैठक को संबोधित करेंगे। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से ये बैठक वर्चुअल हो रही है। पिछले साल राजनाथ सिंह ने बैंकॉक में (ADMM-Plus) और रक्षा और सुरक्षा 2019 प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में भाग लिया था।

उल्‍लेखनीय है कि पिछले साथ इस बैठक के दौरान राजनाथ सिंह ने किसी देश का नाम लिए बगैर पाकिस्‍तान को टारगेट करते हुए कहा था कि राज्य प्रयोजित आतंकवाद न सिर्फ एक पीड़ादायी कैंसर है, बल्कि सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करने वालें कारणें में भी है।