Sunday, September 26, 2021
Homeटॉप न्यूज़राजनाथ हथगोला बनाने वाली कंपनी का आज करेंगे दौरा

राजनाथ हथगोला बनाने वाली कंपनी का आज करेंगे दौरा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को नागपुर स्थित निजी क्षेत्र की रक्षा कंपनी इकोनामिक एक्सप्लोसिव लिमिटेड (ईईएल) का दौरा करेंगे। पिछले वर्ष अक्टूबर में रक्षा मंत्रालय ने ईईएल के साथ 409 करोड़ रुपये की लागत पर भारतीय सेना को 10 लाख मल्टी-मोड हथगोले की आपूर्ति करने के लिए करार किया था।

पिछले वर्ष अक्टूबर में रक्षा मंत्रालय ने निजी क्षेत्र की रक्षा कंपनी इकोनामिक एक्सप्लोसिव लिमिटेड (ईईएल) के साथ 409 करोड़ रुपये की लागत पर भारतीय सेना को 10 लाख मल्टी-मोड हथगोले की आपूर्ति करने के लिए करार किया था।

रक्षा मंत्री ईईएल फैक्ट्री, डीआरडीओ की प्रयोगशाला का करेंगे दौरा

रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को ट्विटर पर कहा, ‘रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल (मंगलवार) एक दिन के नागपुर दौरे पर रहेंगे। वह ईईएल फैक्ट्री परिसर में एक कार्यक्रम में भाग लेंगे।’ मंगलवार को रक्षा मंत्री केंद्र संचालित रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की प्रयोगशाला का भी दौरा करेंगे। इसके अलावा वह नागपुर में भारतीय वायुसेना की मेंटीनेंस कमान भी जाएंगे।

अब रक्षा खरीद की जानकारी रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट पर होगी पब्लिश, राजनाथ ने दी मंजूर

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्रालय और रक्षा सेवाओं की वेबसाइट पर नियोजित खरीद की सही जानकारी पब्लिश करने के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है। रक्षा मंत्रालय का कहना है कि इस निर्णय से ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ को बढ़ावा मिलेगा, साथ ही पूंजी अधिग्रहण प्रक्रिया में पारदर्शिता बढ़ाने में मदद मिलेगी।

टेक्‍नोलॉजी टाई-अप की योजना

रक्षा मंत्रालय का कहना है कि इस निर्णय के कारण इंडस्‍ट्री के लोग मूल उपकरण निर्माताओं के साथ टेक्‍नोलॉजी टाई-अप की योजना बना सकते हैं। साथ ही प्रोडक्शन लाइंस बनाने और क्षमता बढ़ाने की प्रक्रिया भी शुरू कर सकते हैं। प्रस्‍ताव प्राप्‍त करने के एक हफ्ते के अंदर ही मंत्रालय ने इसे मंजूरी दे दी है।

सशस्त्र बलों के लिए खरीद प्रक्रिया समय के हिसाब से धीमी चल रही: नरवणे

अभी कुछ दिन पहले ही आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे ने कहा था कि सशस्त्र बलों के लिए खरीद प्रक्रिया समय के हिसाब से धीमी चल रही है और इसमें सुधार के लिए नौकरशाही मामलों में क्रांतिकारी बदलाव की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नियमों और कायदों की ‘मनमानी प्रकृति’ के कारण खरीद प्रक्रिया में कई खामियां हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ‘औद्योगिक युग’ की प्रक्रियाओं के द्वारा ‘सूचना युग’ युद्ध की जरूरतों को असमर्थ नहीं बनाया जा सकता है।

राजनाथ ने सेना के लिए पांच ट्रॉमा केयर एम्बुलेंस को हरी झंडी दिखाई

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने आवास से पांच ट्रॉमा केयर एम्बुलेंस के बेड़े को भी हरी झंडी दिखाई है। ये एम्बुलेंस एक गैर लाभकारी संगठन ने जम्मू-कश्मीर में तैनाती के लिए सेना को दी हैं। ये एम्बुलेंस ‘बॉर्डरलेस वर्ल्ड फाउंडेशन’ ने कश्मीर में नियंत्रण रेखा की सुरक्षा में तैनात सेना की चिनार कोर को प्रदान की हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments