Saturday, September 18, 2021
Homeव्यापारSensex के काम आ रहा RBI का बूस्‍टर, आज फिर झूमते हुए...

Sensex के काम आ रहा RBI का बूस्‍टर, आज फिर झूमते हुए शुरू हुआ कारोबार

RBI के covid 19 पर बूस्‍टर डोज से Share market गुलजार है। बुधवार के बाद गुरुवार को भी कारोबार की शुरुआत में बाजार में तेजी दिखी। BSe का Sensex 47 अंक ऊपर 48725 पर कारोबार कर रहा था। RBI के बूस्‍टर ने Finance, IT और दवा कंपनियों के लिए संजीवनी का काम किया है। Nifty 50 भी 14644.80 अंक ऊपर कारोबार कर रहा था। यह पिछली क्‍लोजिंग से 43 अंक ऊपर है।

RBI के बूस्‍टर ने Finance IT और दवा कंपनियों के लिए संजीवनी का काम किया है। Nifty 50 भी 14644.80 अंक ऊपर कारोबार कर रहा था। यह पिछली क्‍लोजिंग से 43 अंक ऊपर है। BSe का Sensex 47 अंक ऊपर 48725 पर कारोबार कर रहा था।

बुधवार को शेयर बाजार में गिरावट पर विराम लगा था। बीएसई सेंसेक्स 424 अंक उछलकर बंद हुआ। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण चुनौतियों का सामना कर रही अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के लिये RBI की तरफ से किए गए उपायों की घोषणा से बाजार में मजबूती आई। कारोबारियों के अनुसार बैंक, औषधि और आईटी कंपनियों के शेयरों की अगुवाई में बाजार में तेजी आई। हालांकि रुपये की विनिमय दर में गिरावट से तेजी पर कुछ अंकुश लगा।

बुधवार को 3 शेयर गिरे

तीस शेयरों पर आधारित Bse Sensex 424.04 अंक यानी 0.88 प्रतिशत उछलकर 48,677.55 अंक पर बंद हुआ था। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 121.35 अंक यानी 0.84 प्रतिशत की बढ़त के साथ 14,617.85 अंक पर बंद हुआ था। सेंसेक्स के शेयरों में 5.94 प्रतिशत बढ़त के साथ ज्‍यादा फायदे में Sun Pharma रही। इसके अलावा कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, डा. रेड्डीज, टाइटन और टीसीएस में भी तेजी रही। दूसरी तरफ केवल तीन शेयरों…बजाज फाइनेंस, एशियन पेंट्स और एचयूएल…में 1.75 प्रतिशत तक की गिरावट आई।

दवा कंपनियों को सपोर्ट

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि मुख्य रूप से वित्तीय, आईटी और दवा कंपनियों के शेयरों में तेजी से घरेलू शेयर बाजार को समर्थन मिला। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के लिये आरबीआई द्वारा उपायों की घोषणा से बाजार में तेजी आयी।

Loan माफी 2.0

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को कोविड संकट से अर्थव्यवस्था को राहत देने के लिए कुछ व्यक्तिगत और छोटे कर्जदारों को कर्ज चुकाने के लिए ज्‍यादा समय देने के साथ ही बैंकों से कहा कि वे वैक्सीन निर्माताओं, अस्पतालों और कोविड से संबंधित स्वास्थ्य ढांचे को प्राथमिकता के आधार पर कर्ज दें।

RBI की संजीवनी

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने यह भी कहा कि केंद्रीय बैंक 20 मई सरकारी प्रतिभूति खरीद कार्यक्रम (GSMP) के तहत 35,000 करोड़ रुपये मूल्य के बांड खरीदेगा। साथ ही बैंकों को फंसे कर्ज के एवज में रकम अलग रखने को लेकर ‘फ्लोटिंग’ प्रावधान (लाभ का वह हिस्सा जिसे बैंक आपात स्थिति के लिये रखते हैं) के इस्‍तेमाल की भी इजाजत दी है।

Covid केस हुए कम

विनोद मोदी के मुताबिक कई राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले और उससे मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी चिंता का कारण है। हालांकि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और गुजरात समेत कई राज्यों में मामलों में कमी आई है, जो राहत की बात है।

GDP ग्रोथ रेट

इस बीच, एस एंड पी ग्लोबल रेटिंग्स ने बुधवार को चालू कारोबारी साल के लिये भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) ग्रोथ दर के अनुमान को कम कर 9.8 प्रतिशत कर दिया। उसने कहा कि कोविड महामारी की लहर अर्थव्यवस्था में तरक्‍की की स्थिति को पटरी से उतार सकती है। एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग में गिरावट रही जबकि सोल, शंघाई और तोक्यो बाजार अवकाश के कारण बंद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments