सगे भाई ने ही ले ली जान:बड़े भाई से नशे के लिए झगड़ा कर पैसे मांगे, मना किया तो ईंट मार कर दी हत्या

0
9

महम के नजदीकी गांव भैणी महाराजपुर में नशे की लत ने छोटे भाई को बड़े भाई का कातिल बना दिया। गांव के महम में सब्जी की रेहड़ी लगाने वाले 47 वर्षीय पवन की सगे छोटे भाई मोहनलाल ने सिर में ईंट मारकर जान ले ली। पुलिस के अनुसार पवन और मोहनलाल गांव में ही महम में सब्जी की रेहड़ी लगाते हैं।

भैणी महाराजपुर में घटनास्थल पर जांच करते पुलिस कर्मी व एफएसएल एक्सपर्ट डॉ. सरोज दहिया मलिक। (इनसेट) मृतक पवन 
  • परिजन गए थे बाहर, वारदात को अंजाम दे फरार हो गया आरोपी

मृतक पवन के बेटे विकास ने बताया कि उसके चाचा मोहनलाल को नशे की लत थी। परिवार उसकी ये लत छुड़वाना चाहता था। इसलिए उन्होंने मोहन को नकदी देनी बंद कर दी थी। रविवार को भी मोहनलाल ने पवन से शराब खरीदने के लिए रुपए मांगे। पवन ने रुपए देने से मना किया तो मोहन ने उसके साथ झगड़ा करना शुरू कर दिया।

इसी बीच उसने एक ईंट उठाकर पवन के सिर में मार दी। ईंट लगने के बाद पवन बेहोश हो गया। थोड़ी देर बाद ज्यादा खून बहने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर महम थाना पुलिस और एसएफएल एक्सपर्ट डॉ. सरोज दहिया मौके पर पहुंचे और वारदात के बारे में साक्ष्य जुटाए।

रिश्तेदारी में शोक जताने गए थे परिजन

पवन और मोहन दोनों महम व गांव में सब्जी की रेहड़ी लगाते थे। कुछ दिनों पहले दोनों की रिश्तेदारी में किसी की मौत हो गई थी। उनके परिवार के लोग रिश्तेदारी में शोक जताने के लिए रविवार सुबह ही घर से चले गए थे। इस बीच दोनों भाई घर पर अकेले थे। दोपहर को दोनोंं के बीच मोहन की शराब पीने की आदत पर झगड़ा हुआ। परिवार वाले जब गांव वापस लौटे तो उन्हें पवन की हत्या का पता चला।

पवन झगड़ा छोड़ बाहर जा रहा था तो किया हमला

मृतक पवन के बेटे विकास का कहना है कि उसके पिता मोहन से झगड़ा छोड़ घर से बाहर जाने लगे तो तैश में आकर मोहन उनके पीछे भागा। उन्हें ईंट उठाकर मारी और भाग निकला। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी।