Friday, September 24, 2021
Homeचंडीगढ़चंडीगढ़ में रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी, इस्टेट ऑफिस और सब रजिस्ट्रार ऑफिस...

चंडीगढ़ में रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी, इस्टेट ऑफिस और सब रजिस्ट्रार ऑफिस कोरोना संक्रमण के कारण 30 अप्रैल तक बंद

शहर में अब कोरोना संक्रमण का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है। इसी प्रभाव के चलते शहर के तीन बड़े पब्लिक डीलिंग के डिपार्टमेंट को प्रशासन की ओर से 30 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है। इसका कारण यह है कि इन डिपार्टमेंट में कई कर्मचारी संक्रमण की चपेट में आ गए है,जिससे हालत गंभीर है। शहर के रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी, इस्टेट ऑफिस और सब-रजिस्ट्रार ऑफिस को 30 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है।

कोरोना संक्रमण का प्रभाव बढ़ने के कारण प्रशासन ने यह फैसला लिया है।

इस्टेट ऑफिस में पिछले दिनों 18 कर्मचारी कोरोना संक्रमित मिले थे। इन कार्यालयों में जिन लोगों ने फाइल जमा करवाने या अन्य काम के लिए टाइम लिया था वे अब अपने काम 30 अप्रैल के बाद ही करवा पाऐंगे। इसके अलावा प्रशासन की ओर से कई टूरिस्ट स्थलों को बंद किया गया है। रात को 9 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है जिसमें अब सख्ती की जा रही है।

लाइसेंसिंग अथॉरिटी में रोजाना 1000 से ज्यादा लोग पहुंचते

शहर के रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी में फाइलें जमा कराने के लिए लोग एक-दो महीने पहले ही ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ले लेते हैं। जिन लोगों ने अगले हफ्ते की अपॉइंटमेंट पहले ही ले ली थी उनकी अपॉइंटमेंट मान्य रहेगी। जिस भी वार को उनकी अपॉइंटमेंट थी, जैसे सोमवार तो 30 अप्रैल के बाद जब यह ऑफिस दोबारा खुलेगा तो सोमवार को ही जमा होगी। जिसकी अपॉइंटमेंट मंगलवार की थी उसकी मंगलवार को ही जमा होगी। आरएलए में हर रोज करीब 1000 से ज्यादा लोग लाइसेंस बनवाने, गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन रिन्यूअल या फिर हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट वगैरह के काम करवाने के लिए पहुंचते हैं।

पिछले दिनों बुकिंग काउंटर पर कई कर्मचारी संक्रमित आए थे

शहर के रेलवे स्टेशन पर भी पिछले सप्ताह कई कर्मचारियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। यहां पर रोजाना काफी संख्या में लोग रेलवे की टिकटें बुक करवाने के लिए पहुंचे है जिनसे संपर्क में आकर यहां के कर्मचारी पॉजिटिव आ जाते है। शहर में स्कूल स्टाफ की भी जब जांच करवाई गई थी तो उनमें से कई संक्रमित पाए गए थे।

शहर के अस्पतालों में एडिशनल बेड तैयार रखने को कहा गया

शहर में कोरोना को लेकर हालात बिगड़ रहे हैं। संक्रमण ज्यादा फैलता है और ज्यादा मरीज अस्पताल में पहुंचते हैं तो इन्हें संभालने के लिए बेड की जरूरत पड़ेगी। इसलिए जीएमसीएच सेक्टर-32 और कोविड अस्पताल सेक्टर-48 में 150 बेड एडिशनल तौर पर तैयार रखने को लेकर फैसला किया गया है। साथ ही जीएमसीएच-32 के कांट्रैक्टर को कहा गया है कि वह कॉन्ट्रैक्ट पर रखे जाने वाले कर्मचारी तैयार रखे। इनकी एक लिस्ट बना कर दें, ताकि जरूरत पड़ने पर इनकी मदद ली जा सके। अधिकारियों के मुताबिक इस समय तैयार रहना बहुत जरूरी है। बेड के साथ ही मेडिकल स्टाफ की भी जरूरत पड़ सकती है, इसलिए पहले ही इंटरव्यू करके स्टाफ की लिस्ट तैयार कर ली जाएगी। जैसे-जैसे जरूरत पड़ती जाएगी, इस रिजर्व लिस्ट से मेडिकल स्टाफ को काम पर लगाया जाएगा। अभी डॉक्टर से भी इसके लिए रिक्वायरमेंट मांगी गई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments