Friday, September 24, 2021
Homeबिहारबिहार : ऐश्वर्या-तेजप्रताप विवाद में कूदे राजद नेता, शक्ति सिंह ने कहा-...

बिहार : ऐश्वर्या-तेजप्रताप विवाद में कूदे राजद नेता, शक्ति सिंह ने कहा- ऐश्वर्या ने राबड़ी पर डंडे से किया हमला

पटना. ऐश्वर्या और तेज प्रताप के बीच पारिवारिक विवाद में अब राजद नेता भी कूद गए हैं। राजद नेता शक्ति सिंह यादव ने ऐश्वर्या राय के सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि उस वक्त मैं राबड़ी आवास में ही मौजूद था। राबड़ी देवी पर मारपीट के आरोप निराधार हैं। वे ऐश्वर्या को लगातार समझाती रहीं, लेकिन ऐश्वर्या ने उनकी एक नहीं सुनी। ऐश्वर्या ने राबड़ी पर डंडे से हमला कर दिया जिसमें वे बाल-बाल बच गईं।

शक्ति यादव ने बताया कि राबड़ी देवी ने मुझे मिलने के लिए अपने आवास पर बुलाया था। हमलोग कुर्सी पर बैठकर आग ताप रहे थे और राबड़ी मुझसे झारखंड चुनाव के बारे में चर्चा कर रही थीं। इसी दौरान ऐश्वर्या नीचे आई और चिल्लाने लगी। मैंने समझाने की कोशिश की लेकिन वो और भड़क गईं। आग में जल रही लकड़ी को उठाकर ऐश्वर्या ने पटक दिया। आग का छींटा राबड़ी के हाथ में लग गया, हालांकि उन्हें ज्यादा कुछ नहीं हुआ। राबड़ी ऐश्वर्या को लगातार समझाती रहीं। जब महिला सुरक्षाकर्मी ने मामला शांत कराने पहुंची तब ऐश्वर्या ने राबड़ी पर लात मारने की कोशिश की। राबड़ी ने उन्हें कुछ भी ऐसा नहीं बोला, जिससे ऐश्वर्या को तकलीफ पहुंचे। राबड़ी देवी की तरफ से भी थाने में लिखित शिकायत की जाएगी।

ड्रामा नहीं, ये राजनीतिक साजिश है

राजद नेता ने कहा कि जिस तरह ये घटना हुई है और देर रात तक ड्रामा चला है, उससे ऐसा लगता है कि ये राजनीतिक साजिश है। ये तेज प्रताप और ऐश्वर्या के बीच का मामला है। तलाक को लेकर 17 दिसंबर को जो फैसला आने वाला है, उसी सिलसिले में ये एक ड्रामा रचा गया।

राबड़ी आवास के बाहर देर रात तक चला फैमिली ड्रामा
लालू-राबड़ी आवास के बाहर रविवार शाम से तक हाईवोल्टेज फैमिली ड्रामा चलता रहा। लालू की बहू ऐश्वर्या ने अपनी सास राबड़ी, पति तेज प्रताप और ननद मीसा भारती के खिलाफ दहेज प्रताड़ना, घरेलू हिंसा और मारपीट कर घर से निकालने का केस महिला थाने में दर्ज दराया। रात करीब बारह बजे प्रक्रिया पूरी होने के बाद ऐश्वर्या अपने पिता के साथ रवाना हो गई।

ऐश्वर्या ने कहा था, ‘‘राबड़ी देवी मुझे खाना भी नहीं देती। कहती हैं कि अपने पिता से पैसा लेकर आओ तभी खाना देंगे। इस बार तो हद हो गई। घर के अंदर ये हालत है तो मैं बाहर कैसे रहूंगी। बाहर रही तो ये लोग मेरी जान ले लेंगे। तेजस्वी इस मामले पर कुछ भी देखना नहीं चाहते। वो अपनी मां और भाई के बीच में कुछ बोलते तक नहीं हैं। ये लोग (लालू परिवार) अपने आप को कानून से ऊपर समझते हैं।’’

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments