Friday, September 24, 2021
Homeराज्यगुजरातRT-PCR गुजरात में 200 कम किए, फिर भी राजस्थान में आधी रेट,...

RT-PCR गुजरात में 200 कम किए, फिर भी राजस्थान में आधी रेट, महाराष्ट्र समेत 4 राज्यों में भी सस्ती है टेस्टिंग

हाल ही में भले ही बिहार, यूपी, गुजरात, राजस्थान और दिल्ली जैसे राज्यों ने आरटीपीसीआर परीक्षणों की दर के अधिकतम कीमत को घटा कर कम किया हो, उसके बावजूद देश के कुछ राज्यों जैसे ओडिशा, छत्तीसगढ़ ने गुजरात को आरटीपीसीआर परीक्षण दर में पीछे छोड़ दिया है। इन राज्यों के मुकाबले गुजरात में आरटीपीसीआर की टेस्टिंग रेट अधिक है।

आरटीपीसीआर टेस्ट से वायरस संक्रमण का पता चलता है
  • क्योंकि ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग ही रोक सकती है कोराेना को

जबकि ओडिशा और छत्तीसगढ़ के अलावा महाराष्ट्र और राजस्थान में भी आरटीपीसीआर की दर कम है। महाराष्ट्र में तो गुजरात से दोगुना टेस्टिंग भी है। ओडिशा और राजस्थान में अब तक सबसे कम रेट है, जबकि महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ का भी आरटीपीसीआर टेस्टिंग रेट अभी 500 के आसपास है।

गुजरात राज्य में अब तक लगभग 40 लाख 99 हजार 578 आरटीपीसीआर टेस्ट किये जा चुके हैं, जबकि लगभग 1.69 कराेड़ एंटीजन रैपिड टेस्ट हाे चुके हैं। जबकि गुजरात में अब आरटीपीसीआर के लेबोरेटरी टेस्टिंग कॉस्ट 700 निर्धारित किया गया है। घर तक जाकर सैंपल कलेक्ट करने का कास्ट 900 यानि 200 अतिरिक्त देना पड़ेगा। गुजरात में राेजाना 35 हजार से कम है।

छत्तीसगढ़ की ये स्थिति
छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देश के अनुसार आरटीपीसीआर टेस्टिंग के लिए शुल्क 550 रुपए है, जबकि मरीज के घर या निजी अस्पतालों में कुल 750 रुपए चार्ज निर्धारित है।

ओडिशा में ऐसे हैं रेट

ओडिशा सरकार द्वारा निजी प्रयोगशालाओं में आरटीपीसीआर टेस्टिंग रेट 1200 से कम करके अब 400 रुपए तक हो गई है। जबकि यहां भी रोजाना लगभग 10 हजार आरटीपीसीआर जांच निर्धारित है।

महाराष्ट्र में भी है कम

महाराष्ट्र में टेस्टिंग सेंटर पर अधिकतम दर 500 रुपए है। क्वारंटीन सेंटर या आइसोलेशन सेंटर पर 600 व घर पर टेस्ट के लिए 800 रुपए तय है। अकेले मुंबई में रोजाना 50 हजार टेस्ट निर्धारित है।

राजस्थान सबसे कम रेट

वहीं अगर राजस्थान की बार करें तो वहां आरटीपीसीआर टेस्टिंग कोस्ट सबसे कम 350 रुपए कर दी गई है। राजस्थान में अब तक कोरोना के लिए 4 लाख 38 हजार मामले सामने आ चुके है।

तेलंगाना, ओडिशा में भी यहां से कम

  • राज्य कीमत एक्टिव केस
  • राजस्थान 350 85571
  • ओडिशा 400 30927
  • छत्तीसगढ़ 550/750 125688
  • तेलांगना 500 46,488
  • महाराष्ट्र 500/600 683856
  • गुजरात 700 /900 76500
  • मध्य प्रदेश 700 /900 78271
  • यूपी 700 /900 223544

आरटीपीसीआर टेस्ट से वायरस संक्रमण का पता चलता है

यह रिवर्स ट्रांस्क्रिप्शन पॉलीमर्स चेन रिएक्शन टेस्ट (आरटीपीसीआर) के नाम से जाना जाता है। आरटीपीसीआर टेस्ट से वायरस संक्रमण को डिटेक्ट किया जाता है। इससे गले से म्यूकोजा के अंदर परत वाली स्वैब को सैंपल के रूप में लिया जाता है। आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट को आने में दो से तीन दिन का वक्त लगता है।

अगर काेराेना काे जल्दी डिटेक्ट कर इसका खात्मा करना है ताे आरटीपीसीआर टेस्टिंग कैपेसिटी बढ़ानी हाेगी। जिस तरह से महाराष्ट्र, अाेडिशा, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना जैसे राज्यों में आरटीपीसीआर रेट कम हैं। उसी यहां भी हाेना चाहिए। क्योंकि इससे ज्यादा से ज्यादा जांच करने में मदद मिलेगी। गुजरात में राेजाना 2 से 3 लाख तक आरटीपीसीआर टेस्ट की जरूरत है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments