टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बातचीत में सायरा ने बताया- उनकी सेहत बहुत अच्छी नहीं रहती। वो कमज़ोर हो गये है। कई बार वो हॉल में चहलकदमी करते हुए वापस कमरे में आ जाते हैं। उनकी इम्यूनिटी कम हो गयी है। उनकी सेहत के लिए दुआ कीजिए। हम हर दिन भगवान के शुक्रगुज़ार रहते हैं। सायरा ने आगे कहा- मैं दिलीप साहब की देखभाल नाम के लिए नहीं प्यार के लिए करती हूं। मुझे पतिव्रता पत्नी वाली तारीफ़ें नहीं चाहिए। उन्हें छूना और गले से लगाना मेरे लिए दुनिया की सबसे अच्छी बात है। मैं उन्हें प्यार करती हूं और वो ही मेरी सांसें हैं।

वैसे, साल 2020 दिलीप कुमार और सायरा बानो के लिए ग़मज़दा रहा है। दिलीप कुमार के भाइयों एहसान और असलम ख़ान का कोविड-19 संक्रमण के बाद निधन हो गया था। इसीलिए सायरा बानो और दिलीप कुमार ने अपनी शादी की सालगिरह भी नहीं मनायी।

दिलीप कुमार के ट्विटर एकाउंट पर सायरा का मैसेज शेयर किया गया था, जिसमें कहा गया- 11 अक्टूबर हमेशा से मेरे लिए एक बेहद ख़ास दिन रहा है। इस दिन दिलीप साहब ने मुझसे शादी की थी और मेरे सपने को साकार किया था। इस साल हम सेलिब्रेट नहीं कर रहे। आपको पता ही है कि हमारे दो भाइयों एहसान और असलम भाई का इंतकाल हो गया था। कोविड-19 की वजह से इस साल कई जानें गयी हैं और कई परिवारों को दुख दे दिया। मौजूदा परिस्थितियों में मेरी आप सभी से गुज़ारिश है कि एक-दूसरे की भलाई के लिए प्रार्थना करें। ईश्वर हमारे साथ रहे। सब सुरक्षित रहें।

शादी को हो चुके 54 साल

दिलीप कुमार और सायरा बानो की शादी 11 अक्टूबर 1966 को हुई थी। सायरा उस वक़्त 25 साल की थीं, वहीं दिलीप कुमार 44 साल के हो चुके थे। कहते हैं कि दूल्हा बने दिलीप कुमार की घोड़ी की लगाम पृथ्वीराज कपूर ने थामी थी और दोनों तरफ राज कपूर और देव आनंद नाच रहे थे।