Tuesday, September 28, 2021
Homeबिहारआज से खुले 1 से 8वीं तक के स्कूल, बच्चों को कोरोना...

आज से खुले 1 से 8वीं तक के स्कूल, बच्चों को कोरोना से बचने का पाठ भी पढ़ाएंगे

कोरोना की दूसरी लहर में बंद कक्षा 1 से 8 वीं तक के स्कूल आज यानी 16 अगस्त से खुल गए। छोटे बच्चों के स्कूलों को लेकर सरकार ने सुरक्षा को लेकर विशेष सावधानी के निर्देश दिए हैं। नए आदेश के तहत बच्चों से गुरुजी की दूरी पर भी विशेष ध्यान देने को कहा गया है। बुक से लेकर बच्चों की अन्य पाठ्य सामग्री को हाथ लगाने से पहले गुरुजी को हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना होगा।तीसरे चरण में छोटे बच्चों के स्कूल का नंबर आया

बिहार सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर के बाद स्कूल कॉलेजों को तीन चरण में खोलने का फैसला लिया। बिहार में सभी विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, तकनीकी संस्थान और 11वीं व 12वीं क्लास को 12 जुलाई 2021 को खोला गया है। इसके बाद 9वीं और 10वीं की क्लास 7 अगस्त से खोलने का निर्णय लिया गया। जबकि 1 से 8 वीं तक के स्कूलों को अंतिम चरण में 16 अगस्त से 50 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति के साथ खोलने का निर्णय लिया गया।

सरकारी स्कूलों में नहीं मिलेगा दोपहर का खाना

कोरोना को देखते हुए सरकारी स्कूलों में दोपहर का खाना नहीं दिया जाएगा। शिक्षा विभाग का कहना है कि स्कूल खोलने के बाद माॅनिटरिंग की जाएगी और उसके बाद ही दोपहर के भोजन की व्यवस्था की जाएगी। कचरा को लेकर विशेष व्यवस्था करना है। शौचालय से लेकर पेय जल कि स्थान को पूरी तरह से सफाई व सैनिटाइज कराया जाएगा। स्कूलों में हाथों की सफाई को लेकर विशेष व्यवस्था की गई है। टीचर और शिक्षा कर्मी टीकाकृत हो इसकी पड़ताल की जाएगी।

कोरोना का टीका नहीं लिया तो क्लास से आउट

शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किया है कि सभी टीचर और शिक्षण कार्य में लगे लोगों को कोरोना का टीका लगवाना है। इस आदेश में यह भी कहा गया है कि जिन्होंने कोरोना का टीका नहीं लिया है उसे शिक्षण के कार्य में नहीं लगाया जाए। डिजिटल थर्मामीटर और सैनिटाइजर और साबुन की भी व्यवस्था स्कूलों को करनी है। हर छात्र को प्रतिदिन थर्मल स्कैनिंग किया जाएगा। स्क्रीनिंग के दौरान सामान्य से अधिक तापमान वाले बच्चों की कोरोना जांच कराई जाएगी। कोविड 19 से संक्रमित एक भी बच्चा पाया जाता है तो पूरे क्लास के सभी बच्चों और संपर्क में आए लोगों की कोरोना जांच कराई जाएगी। संस्थान के परिवहन के लिए उपयोग में लाई जाने वाली बस व अन्य वाहन को पूरी तरह से सैनिटाइज करना होगा।

टॉस्क टीम का गठन किया गया

स्कूलों में कोरोना की गाइडलाइन का अनुपालन देखने को लेकर टास्क टास्क टीम बनाई गई है। स्कूलों में एक टास्क टीम बनाई जाएगी जो आकस्मिक सुरक्षा को लेकर काम करेगी। टीम के जिम्मे सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कोरोना की पूरी गाइडलाइन की मानीटरिंग होगी। बच्चों को भी कोरोना की पूरी जानकारी देते हुए कोरोना से बचाव को लेकर पाठ पढ़ाया जाए।

बच्चों को पढ़ाया जाएगा कोरोना का यह पाठ

सोशल डिस्टेंसिंग में रहकर पढ़ाई करना और लंच शेयर नहीं करना है।

किसी भी बाहरी वस्तु को टच करने के बाद हाथ की सफाई करना है।

बार बार मुंह पर हाथ नहीं ले जाना है, हाथ की सफाई पर ध्यान देना है।

कोरोना का खतरा है इसलिए बाहरी सामान खाने से बचना है।

बस में स्कूल से आते जाते समय बस में खिड़की दरवाजा नहीं टच करना है।

हाथ मुंह से लेकर साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना है।

टीचर से भी दूरी बनाकर रखना है, खेलने कूदने के दौरान भी सतर्क रहना है।

मुंह पर हाथ लगाने के पहले हाथों को अच्छी तरह से साफ कर लेना है।

स्कूल में हैंडवॉश पर विशेष ध्यान देना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments