राजस्थान में लंपी वायरस के बढ़ते मामले देख गलहोत ने केंद्र से सहयोग का किया आग्रह

0
20

राजस्थान में पशुओं में फैल रही लंपी रोग का कहर बढ़ता ही जा रहा है. वहीं अब प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार से राज्य में मवेशियों में फैलने वाली लंपी स्किन रोग को नियंत्रित करने के लिए राज्य को वित्तीय मदद देने की अपील की है. चंपी त्वचा रोग अब राजस्थान के 17 जिलों में गाय-भैंस में फैल गया है. सीएम गहलोत ने मवेशियों के बीच फैलने पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार बीमारी को नियंत्रित करने के लिए हर संभव उपाय कर रही है. सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार से गाय के बछड़ों को बचाने के लिए वित्तीय और आवश्यक सहायता प्रदान करने और बीमारी के प्रभावी नियंत्रण में सहयोग करने का आग्रह किया. गहलोत ने राज्य के पशुपालकों और गौशाला संचालकों से धैर्य रखने की अपील की और जनप्रतिनिधियों और स्वयंसेवी संस्थाओं से इस बीमारी के नियंत्रण और रोकथाम में राज्य सरकार का सहयोग करने का आग्रह किया.

गहलोत ने कहा कि पशुधन राजस्थान के किसानों की जीवन रेखा है. गायें अकाल की स्थिति में पशुपालकों को आर्थिक सहायता प्रदान करती हैं. सदियों से पशुपालक पशुधन के बल पर प्रतिकूल परिस्थितियों से लड़ते रहे हैं. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार राज्य की बहुमूल्य पशुधन संपदा के महत्व को बनाए रखने, उन्हें उनके विकास और पशुधन उत्पादन की वृद्धि के साथ-साथ रोजगार के साधन उपलब्ध कराकर उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. 4,292 से अधिक गायों की पहले ही मौत हो चुकी है, क्योंकि यह वायरस अब पश्चिमी राजस्थान के 10 जिलों के साथ-साथ सात और जिलों में फैल गया है. इनमें राजधानी जयपुर जिले के साथ-साथ अजमेर, उदयपुर, कुचामन सिटी, सीकर, झुंझुनू, चुरू आदि शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here