Friday, September 24, 2021
Homeव्यापारShare Baazar खुलते ही हुआ धड़ाम, नहीं मेंटेन कर पाया पुरानी Rally-इस...

Share Baazar खुलते ही हुआ धड़ाम, नहीं मेंटेन कर पाया पुरानी Rally-इस शेयर को सबसे ज्‍यादा नुकसान

Sensex में गुरुवार को भी खराब शुरुआत हुई। BSE का मुख्‍य इंडेक्‍स 471 अंक नीचे 48,690 पर खुला। एक दिन पहले IndusInd Bank को सबसे ज्‍यादा नुकसान हुआ था। यही हाल गुरुवार को भी रहा। Sensex के 7 लिस्‍टेड शेयरों के अलावा बाकी धड़ाम हो गए। उधर, Nifty 50 भी 154 अंक की बड़ी गिरावट के साथ 14696 अंक पर खुला।

Sensex में गुरुवार को भी खराब शुरुआत हुई। BSE का मुख्‍य इंडेक्‍स 471 अंक नीचे 48690 पर खुला। एक दिन पहले IndusInd Bank को सबसे ज्‍यादा नुकसान हुआ था। यही हाल गुरुवार को भी रहा। Sensex के 7 लिस्‍टेड शेयरों के अलावा बाकी धड़ाम हो गए।

इससे पहले बुधवार को शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन गिरावट दर्ज की गई थी, जिससे Sensex 471 अंक लुढ़क गया था और निफ्टी 14,700 अंक से नीचे आ गया। बैंकों और वित्तीय कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली और उपभोक्ता जिंसों की बढ़ती कीमतों के कारण वैश्विक बाजारों में ब्याज दर बढ़ने की चिंता से सूचकांक नीचे आए। 30 शेयरों वाला Bse sensex 471.01 अंक यानी 0.96 प्रतिशत लुढ़कर 49 हजार अंक से नीचे 48,690.80 अंक पर बंद हुआ था। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 154.25 अंक यानी 1.04 प्रतिशत की गिरावट लेकर 14,696.50 अंक पर बंद हुआ।

Indusind bank को नुकसान

Sensex के शेयरों में सर्वाधिक 3 प्रतिशत से ज्‍यादा नुकसान इंडसइंड बैंक को हुआ। इसके अलावा HUL, ONGC, ICICI Bank, एक्सिस बैंक, कोटक बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, अल्ट्रा टेक सीमेंट और टेक महिंद्रा के शेयरों में गिरावट रही। दूसरी तरफ, टाइटन, मारुती, पावरग्रिड, एसबीआई, एनटीपीसी, डॉ रेड्डी और एल एंड टी के शेयर लाभ में रहे। इनमें 4.60 प्रतिशत तक की तेजी आई।

इन शेयरों में तेजी

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में अनुसंधान प्रमुख विनोद नायर के मुताबिक उपभोक्ता जिंसों की बढ़ती कीमतों के कारण वैश्विक बाजार में ब्याज दरें और बांड प्रॉफिट बढ़ने की चिंता में सूचकांक नीचे आए। सभी प्रमुख Sensex समेत कीमती धातु गिरावट लेकर बंद हुए जबकि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और मीडिया शेयरों में तेजी बनी रही।

3.5 लाख नए मामले

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने भी कहा कि देश में कोरोना संक्रमण के प्रतिदिन करीब 3.5 लाख मामले आए हैं, लेकिन सकरात्मकता दर ज्‍यादा होने और ग्रामीण इलाकों में बढ़ते मामलों से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई है।

Metal, Banking, Oil & Gas Index में गिरावट

इस दौरान बीएसई के Metal, Banking, Oil & Gas समेत ऊर्जा और वित्त समूह के Index में 3.22 प्रतिशत तक की गिरावट रही जबकि ऑटो सूचकांक में फायदा देखा गया। बीएसई का मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक भी इस दौरान 0.90 प्रतिशत लुढ़क गया। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और हांगकांग लाभ में रहे जबकि टोक्यो और सोल में गिरावट दर्ज की गई। यूरोप के प्रमुख बाजारों में मध्य कारोबार में मिला-जुला रुख रहा।

ब्रेंड क्रूड का रेट चढ़ा

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.50 प्रतिशत की बढ़ोतरी लेकर 68.88 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया आठ पैसे कमजोर हो कर 73.42 पर बंद हुआ। शेयर बाजार के पास उपलब्ध आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) मंगलवार को बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे हैं। उन्होंने मंगलवार को 336.00 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments