Sunday, September 26, 2021
Homeबॉलीवुडविवाद : शेखर कपूर का ट्वीट देश में रिफ्यूजी जैसा लगता है,...

विवाद : शेखर कपूर का ट्वीट देश में रिफ्यूजी जैसा लगता है, जावेद अख्तर की सलाह मनोचिकित्सक से मिलिए

बॉलीवुड डेस्क. शेखर कपूर ने रविवार को एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि देश में उन्हें आज भी रिफ्यूजी जैसा महसूस होता है। शेखर कपूर की इस सोच पर जावेद अख्तर ने उन्हें जमकर फटकार लगाई और कहा कि उन्हें मनोचिकित्सक से मिलना चाहिए।

शेखर ने लिखा गले मिलने वाले सांप की तरह : शेखर अपने ट्वीट में खुद को रिफ्यूजी बताया है। उन्होंने लिखा- बंटवारे के बाद एक रिफ्यूजी की तरह जिंदगी की शुरुआत की थी। माता-पिता ने बच्चों की जिंदगी बनाने के लिए सबकुछ दे दिया। हमेशा से बुद्धिजीवियों से डरता रहा। उन्होंने मुझे हमेशा छोटा महसूस करवाया। फिर अचानक से मेरी फिल्मों के बाद मुझे गले लगा लिया। मुझे आज भी उनसे डर लगता है। उनका गले मिलना सांप के काटने जैसा है। आज भी रिफ्यूजी जैसा हूं।

जावेद ने किए कई ट्वीट्स : इसके जवाब में जावेद अख्तर ने लगातार कई ट्वीट कर शेखर को फटकार लगाई है। उन्होंने शेखर की निंदा करते हुए लिखा- वे कौन से बुद्धिजीवी हैं जिन्होंने आपको गले लगाया और आपको वह सांप के काटने जैसा लगा। श्याम बेनेगल, आदूर गोपाल कृष्णा, राम चंद्र गुहा सच में…? शेखर साहब आप ठीक नहीं हैं। आपको मदद की जरूरत है। इस बात में कोई शर्म नहीं है जाइये किसी मनोचिकित्सक से मिल लीजिए।

आपका क्या मतलब है कि आप अभी भी रिफ्यूजी हैं। क्या इसका मतलब है कि आपको भारतीय नहीं बल्कि बाहर के व्यक्ति जैसा महसूस होता है और ये लगता है कि ये आपका देश नहीं है। अगर भारत में आपको रिफ्यूजी जैसा लग रहा है तो कहां नहीं लगेगा, पाकिस्तान में? ये मेलोड्रामा करना बंद करो, अमीर लेकिन अकेले आदमी।

आप अपने खुद को बीते कल से निष्पक्ष और आने वाले से कल से निर्भय बताते हैं। आप यह भी कहते हैं कि आप आज में जीते हैं और वहीं आप कह रहे हैं कि आपको बंटवारे के बाद रिफ्यूजी जैसा लग रहा है, आप आज भी रिफ्यूजी हैं। इन दोनों बातों में फर्क देखने के लिए किसी को ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है।

मॉब लिंचिंग से जुड़ा मुद्दा : शेखर कपूर का यह ट्वीट 49 कलाकारों के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मॉब लिंचिंग रोकने के लिए लिखे गए लैटर के बाद आया है। हालांकि इस लैटर के बदले कंगना रनोट, प्रसून जोशी समेत 62 कलाकारों ने एक ओपन लैटर लिखा था। इतना ही नहीं शनिवार को ही शेखर कपूर ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ भी की थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments