सुशांत सिंह राजपूत के पिता को झटका, फिल्मों की रिलीज पर रोक से दिल्ली HC का इनकार

0
1

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण किशोर सिंह को दिल्ली हाई कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है। बृहस्पतिवार को सुनवाई के दौरान सुशांत सिंह के पिता की उस याचिका को दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया था कि उनके बेटे का नाम या उसकी पसंद को प्रस्तावित फिल्मों में इस्तेमाल करने से रोका जाए। सुशांत के जीवन पर आधारित आगामी या प्रस्तावित फिल्मों में ‘न्याय- द जस्टिस’, ‘आत्महत्या या हत्या: ए स्टार वाज लास्ट’, व ‘शशांक’ हैं। दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा रिलीज पर से रोक हटाने पर जाने-माने वकील एपी सिंह ने खुशी जताई है। दिल्ली हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति संजीव नरुला की पीठ ने पिछली तारीख पर सभी पक्षों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था।

बृहस्पतिवार को सुनवाई के दौरान सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण किशोर सिंह की दायर उस याचिका को दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि उनके बेटे का नाम या उसकी पसंद को प्रस्तावित फिल्मों में इस्तेमाल करने से रोका जाए।

पिछली सुनवाई में न्यायमूर्ति मनोज कुमार ओहरी की पीठ ने फिल्मों के निर्माता और निर्देशकों को कहा कि जब तक अदालत का फैसला नहीं आता है तब तक फिल्म रिलीज न करें। अब फैसला आने के बाद फिल्में रिलीज की जा सकेंगी। सुनवाई के दौरान फिल्म न्याय द-जस्टिस के निर्देशक की तरफ से पेश हुए अधिवक्ता चंदर लाल ने कहा था कि इस फिल्म सुशांत का नाम या उनकी पसंद नहीं है। उन्होंने कहा  था कि यह फिल्म सुशांत की बायोपिक नहीं है। उन्होंने कहा कि फिल्म के रिलीज को बड़े स्तर पर प्रचारित किया जा चुका है, ऐसे में इसे रोकने पर कोई आश्वासन नहीं दे सकेंगे।

सुशांत के पिता ने याचिका दायर कर कहा था कि उनके बेटे का नाम या उसकी पसंद को प्रस्तावित फिल्मों में इस्तेमाल करने से रोका जाए। उन्होंने कहा था कि सुशांत के जीवन पर आधारित आगामी या प्रस्तावित फिल्मों में न्याय- द जस्टिस, आत्महत्या या हत्या: ए स्टार वास लास्ट, शशांक हैं।

आरोप लगाया था कि फिल्म निर्माता स्थिति का लाभ उठाने के लिए इस तरफ की फिल्म बना रहे हैं। याचिकाकर्ता ने कहा कि उन्हें अंदेशा है कि इस तरह की विभिन्न नाटक, फिल्में, वेब-सीरीज, किताबें, साक्षात्कार या अन्य सामग्री प्रकाशित हो सकती है, जो उनके बेटे या उनके परिवार की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा सकती हैं। उन्होंने इसके लिए दो करोड़ रुपये के मुआवजा की फिल्म निर्माताओं से मांग की है।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत मूलरूप से बिहार के रहने वाले थे, लेकिन उन्होंने अपनी शिक्षा-दीक्षा दिल्ली से ली थी और फिर फिल्मों में काम करने के लिए दिल्ली चले गए थे