Saturday, September 18, 2021
Homeविश्वअफगानिस्‍तान से सामने आईं दिल दहला देने वाली तस्‍वीरें, तालिबान को लेकर...

अफगानिस्‍तान से सामने आईं दिल दहला देने वाली तस्‍वीरें, तालिबान को लेकर दहशत में लोग

अफगानिस्‍तान के हालात अब पूरी तरह से बेकाबू हो गए हैं। वहां से कई ऐसी तस्‍वीरें सामने आई हैं जो विचलित कर देने वाली हैं। पूरी दुनिया अफगानिस्‍तान पर नजर गड़ाए हुए है। वहां के आने वाले दिन कैसे होंगे इसको लेकर फिलहाल कुछ नहीं कहा जा रहा है।

अफगानिस्‍तान पर तालिबान के कब्‍जे के साथ ही वहां के हालात जिस तरह से सामने आ रहे हैं वो कल्‍पना से भी परे है। संयुक्‍त राष्‍ट्र की सुरक्षा परिषद में भी इस पर चिंता जताई गई है। यूएन महासचिव का कहना है कि भी को अफगानिस्‍तान की मदद के लिए आगे आना चाहिए। गौरतलब है कि सोमवार को काबुल एयरपोर्ट पर जो कुछ दिया उसकी कल्‍पना करना भी मुश्किल है। वहां पर मौजूद भीड़ के बेकाबू होने के बाद चली गोलियों की वजह से पांच लोग मारे गए। इसके अलावा कुछ लोग टेकआफ कर रहे यूएस एयरफोर्स के विमान ग्‍लोबल मास्‍टर पर चढ़ने की कोशिश में मारे गए। कुछ टेकआफ करने के बाद ऊंचाई से जमीन पर गिरने की वजह से भी मारे गए हैं। ये तस्‍वीरें दिल दहलाने वाली थीं।

jagran

एयरपोर्ट पर और काबुल की सड़कों पर मची अफरातफरी इस बात का सीधा सबूत है कि लोग तालिबान से खौफजदा हैं। हालांकि तालिबान लगातार ये कह रहा है कि लोग उसका स्‍वागत कर रहे हैं और उनके आने से खुश हैं। अफगानिस्‍तान के टोलो न्‍यूज की मानें तो काबुल पर कब्‍जे के कुछ घंटे बाद ही तालिबानियों ने इस मीडिया हाउस के हेडक्‍वार्टर में घुसकर वहां पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों से सारे हथियार ले लिए थे।

jagran

16 अगस्‍त की दोपहर तक ये मीडिया हाउस तालिबानियों के बंधक में बना रहा था। शाम को टोलो न्‍यूज ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इस दौरान तालिबान ने किसी भी कर्मी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया और न ही किसी के साथ कोई बदसलूकी ही की।

jagran

jagran

इस बीच अफगानिस्‍तान के मुद्दे पर हुई सुरक्षा परिषद की बैठक में वहां के ताजा हालातों पर काफी चिंता जताई गई है। सुरक्षा परिषद ने सभी तरफ से शांति की अपील की है और लोगों से भी संयंम बरतने को कहा है। इस मुद्दे पर अमेरिका और अफगानिस्‍तान के बीच भी मनमुटाव खुलकर सामने आ गया है। अमेरिका ने जहां अपनी वापसी के फैसले को सही बताया है वहीं अफगानिस्‍तान के नेताओं का मानना है कि अमेरिका ने ये कदम बिना सोचे समझे उठाया है, जिसकी वजह से हालात खराब हुए हैं।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार देर रात को राष्‍ट्र को दिए अपने संबोधन में कहा कि वो कब तक अपने सैनिकों को वहां पर मरने देते। उन्‍होंने अफगानिस्‍तान के हालातों के लिए सीधेतौर पर राष्‍ट्रपति अशरफ गनी को जिम्‍मेदार ठहराते हुए कहा कि वो पीठ दिखाकर ऐसे समय में काबुल से भाग खड़े हुए जब उनकी वहां पर सबसे अधिक जरूरत थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments