Tuesday, September 21, 2021
Homeव्यापारशुक्रवार को शेयर बाजार में बढ़ी बिकवाली, सेंसेक्‍स 40,500 के नीचे बंद

शुक्रवार को शेयर बाजार में बढ़ी बिकवाली, सेंसेक्‍स 40,500 के नीचे बंद

  • सेंसेक्‍स 334.44 अंक लुढ़क कर 40 हजार 445 अंक पर बंद हुआ
  • निफ्टी 96.90 अंक की गिरावट के साथ 11,921.50 अंक पर आ गया

भारतीय शेयर बाजार में शुक्रवार को बिकवाली का दौर देखने को मिला. शुरुआती कारोबार में मामूली सुधार के बाद सेंसेक्‍स और निफ्टी में बड़ी गिरावट आई. कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 334.44 अंक यानी 0.82 फीसदी लुढ़क कर 40 हजार 445 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह निफ्टी 96.90 अंक (0.81%) की गिरावट के साथ 11,921.50 अंक के स्‍तर पर आ गया.

यस बैंक के शेयर में सबसे बड़ी गिरावट

प्राइवेस सेक्‍टर के यस बैंक के शेयर में गिरावट का दौर देखने को मिला. कारोबार के अंत में बैंक के शेयर 9 फीसदी से अधिक अधिक गिरावट के साथ बंद हुए. दरअसल, ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज ने प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक की रेटिंग्स को नेगेटिव आउटलुक के साथ डाउनग्रेड कर दिया है. मूडीज ने इसके साथ ही बैंक में 2 अरब डॉलर के निवेश की दिलचस्पी दिखाए जाने के दावे में टाइमिंग, प्राइसिंग और रेगुलेटरी अप्रूवल को लेकर सवाल खड़े किए हैं.

बिड़ला के बयान से वोडाफोन-आ‍इडिया के शेयर धड़ाम

कारोबार के दौरान वोडाफोन-आइडिया के शेयर में करीब 6 फीसदी की गिरावट रही. दरअसल, कंपनी के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा है कि सरकार राहत उपलब्ध नहीं कराती है तो वोडाफोन-आइडिया बंद हो जाएगी. एक मीडिया कार्यक्रम में बिड़ला ने कहा, ‘‘ हमें अपनी दुकान (वोडाफोन-आइडिया) बंद करनी पड़ेगी.’’ बिड़ला ने सरकार से राहत ना मिलने की स्थिति में कंपनी में किसी और तरह का निवेश नहीं करने का संकेत दिया. उन्होंने कहा कि इस बात का कोई मतलब नहीं कि डूबते पैसे में और पैसा लगा दिया जाए. बिड़ला ने कहा कि राहत ना मिलने की स्थिति में वह कंपनी को दिवाला प्रक्रिया में ले जाएंगे.

मारुति को भी लगा झटका

देश की दिग्‍गज ऑटोमेकर कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने 60 हजार से अधिक कारों को बाजार से वापस मंगा लिया है. इस खबर का नुकसान मारुति के शेयर में देखने को मिला. कारोबार के अंत में मारुति के शेयर 1.77 % लुढ़क कर 6881.35 रुपये के भाव पर आ गए. बता दें कि मारुति ने सेफ्टी को देखते हुए कंपनी ने Ciaz, Ertiga और XL6 के 63, 493 यूनिट को रिकॉल किया है. कंपनी ने मोटर जेनरेटर यूनिट में खराबी के कारण यह फैसला लिया है.

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments