Friday, September 24, 2021
Homeलाइफ स्टाइलवेलेंटाइन विक में आज टेडी डे, जानकर हैरान रह जाएंगे कैसे हुआ...

वेलेंटाइन विक में आज टेडी डे, जानकर हैरान रह जाएंगे कैसे हुआ cute teddy का जन्म

नई दिल्ली। एक सप्ताह तक चलनेवाले वेलेंटाइन विक में आज टेडी डे है इस दिन के बारे में हम आपको इस लेख के माध्यम से खास जानकारी देनेवाले हैं कि कैसे इस दिन को मनाया जाता है। कैसे इस दिन के लिए CUTE TEDDY का जन्म हुआ। आज वेलेंटाइन वीक का चौथा दि‍न है। आज इसे टेडी डे के रूप में मनाया जाता है। टेडी टीन एजर्स में बहुत पसंद कि‍या जाता है खासतौर पर लड़कियों को यह बेहद पसंद है। इसलिए अपनी गर्लफ्रेंड को खुश करने के लिए टेडीबीयर बेस्‍ट गि‍फ्ट हो सकता है या फिर अपना हाल-ए-दिल बयां करना हो तब भी यह बड़े काम की चीज साबित हो सकता है, लेकि‍न क्‍या आपको मालूम है कि हमें हमारा क्‍यूट टेडी कैसे मि‍ला और उसकी कहानी क्‍या है?teddy dayहुआ यूं कि अमेरि‍का के 26वें राष्ट्रपति थेयोडोर रूजवेल्‍ट जब मि‍सीसि‍पी और लूसि‍याना के बीच चल रहे सीमा वि‍वाद को सुलझाने के लि‍ए जब मि‍सीसि‍पी गए तो अपने खाली समय में वे भालू के शि‍कार पर नि‍कले।teddy day
शि‍कार के दौरान उन्‍हें एक पेड़ से बंधा, दर्द से तड़पता हुआ घायल भालू मि‍ला। उनके साथि‍यों ने कहा कि वे इस भालू का शि‍कार कर सकते हैं लेकि‍न रूजवेल्‍ट ने यह कहते हुए मना कर दि‍या कि एक घायल पशु का शि‍कार करना शि‍कार के नि‍यमों के खि‍लाफ है। फि‍र भी उन्‍होंने उस भालू का मारने का आदेश दि‍या ताकि उसे उसके दर्द और तड़प से छुटकारा मि‍ल सके।teddy dayइस घटना की अखबारों में खूब चर्चा हुई। क्‍लि‍फोर्ड बेरीमेन नामक कार्टूनि‍स्‍ट ने इस घटना पर वॉशिंगटन पोस्‍ट के लि‍ए एक कार्टून भी बनाया जि‍समें रूजवेल्‍ट को एक व्‍यस्‍क भालू के साथ दि‍खाया गया था। यह कार्टून उस समय बहुत चर्चि‍त हुआ था। क्‍लि‍फोर्ड द्वारा भालू को जो रूप दि‍या गया वो बहुत लोकप्रि‍य हुआ और पसंद कि‍या जाने लगा।

केंडी और खि‍लौनो का स्‍टोर चलाने वाले मॉरि‍स मि‍चटॉम कार्टून वाले भालू से बहुत प्रभावित‍ हुए। मॉरि‍स की पत्‍नी बच्‍चों के खि‍लौने बनाया करती थी। उन्‍होंने भालू के आकार का ही एक नया खि‍लौना बनाया।
teddy day
मॉरि‍स उस खि‍लौने को लेकर रूजवेल्‍ट के पास गए और उनसे खि‍लौने को ‘टेडी बीयर’ नाम देने की अनुमति मांगी क्‍योंकि ‘टेडी’ रूजवेल्‍ट का नि‍कनेम था। रूजवेल्‍ट ने ‘हां’ कहा और इस तरह दुनि‍या को मि‍ला प्‍यार-सा, क्‍यूट-सा ‘टेडी’।

वजन में हल्‍का और दि‍खने में प्‍यारा होने के कारण टेडी जल्‍द ही लोगों में पसंद कि‍या जाने लगा। राष्ट्रपति रूजवेल्‍ट ने तो अगले राष्ट्रपति चुनावों में उसे अपना शुभंकर ही बना लि‍या।teddy day

दुनि‍या का पहला टेडीबीयर म्‍यूजि‍यम इंग्‍लैंड के पीटरफील्‍ड, हैंपि‍यर में 1984 में स्‍थापि‍त कि‍या गया। अमेरि‍का, कनाडा, ग्रेट ब्रि‍टेन, जापान और जर्मनी में तो टेडीबीयर उत्‍सव खासा लोकप्रि‍य है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments