Tuesday, September 28, 2021
Homeबिहार'तेज' और जगदानंद पर सवाल होते ही निकले तेजस्वी

‘तेज’ और जगदानंद पर सवाल होते ही निकले तेजस्वी

तेज प्रताप यादव और जगदानंद सिंह विवाद पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि जगदानंद सिंह की किसी तरह की कोई नाराजगी नहीं है। इसके बाद मीडियाकर्मियों ने जब सवाल किया तो तेजस्वी यादव प्रेस कॉन्फ्रेस से निकल गए। शुक्रवार की सुबह तेजस्वी की प्रेस कांफ्रेस में जगदानंद सिंह और तेजप्रताप यादव दोनों में से कोई नहीं आए थे। राजद के सीनियर नेताओं का मानना है कि लालू प्रसाद ही तेज प्रताप और जगदानंद सिंह के बीच कुछ करा सकते हैं।तेजप्रताप यादव भी तेज को छेड़ना नहीं चाहते

असल बात यह है कि तेज प्रताप यादव के हिटलर वाले बयान की आलोचना करने की ताकत राष्ट्रीय जनता दल के किसी नेता में नहीं है। महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव में भी नहीं। हिटलर वाले बयान को लेकर भी तेजस्वी यादव ने कुछ भी नहीं कहा। वे चुप्पी साध गए। यह साफ हो गया है कि राजद में कोई तेजप्रताप यादव को छेड़ना नहीं चाहता।

इस पर भी RJD की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई

तेजप्रताप यादव ने सोशल मीडिया पर लाइव आकर सवाल उठाया था कि जब चुनाव के समय पोस्टर पर सिर्फ तेजस्वी यादव का ही फोटो दिख रहा था। उस पर पिता जी लालू प्रसाद , माता जी राबड़ी देवी, मीसा भारती और खुद मेरा यानी तेजप्रताप यादव की भी फोटो नहीं थी, तब मीडिया वाले कहां थे? तेजप्रताप यादव के इस बयान पर भी RJD की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

कोई आंख की किरकिरी नहीं बनना चाहता

पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता ऑफ द रिकॉर्ड तेजप्रताप यादव पर जरूर बात करते हैं। लेकिन सामने आकर कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं। इसकी बड़ी वजह यह है कि सभी समझते हैं कि तेजप्रताप यादव का कुछ बिगड़ने वाला नहीं है, वे लालू प्रसाद के बड़े पुत्र हैं। तेजस्वी यादव की आंख की किरकिरी कोई नहीं बनना चाहता।

पार्टी कार्यालय नहीं आ रहे हैं जगदानंद

हिटलर वाले बयान के बाद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने पार्टी कार्यालय आना छोड़ दिया है। उनके पार्टी ऑफिस आने का मतलब ही होगा कि उन्होंने तेजप्रताप के बयान के आगे सरेंडर कर दिया है। साथ ही हिटलर वाले बयान को स्वीकार कर लिया है। हालांकि पार्टी के स्थापना दिवस के अवसर पर तेज के दिए बयान के बाद लालू प्रसाद ने स्थिति संभाल ली थी। लेकिन इस बार हिटलर शब्द अपने आप में बड़ा अर्थ रखने वाला है। जगदानंद सिंह की पूरी समाजवादी राजनीति को एक हिटलर शब्द से धो देने को पार्टी के अंदर-बाहर कोई सही नहीं मान सकता।

अब लालू प्रसाद ही संभाल सकते हैं स्थिति

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अब लालू प्रसाद ही स्थिति संभाल सकते हैं। तेजप्रताप किसी के वश में आने वाले नहीं हैं। तेज प्रताप ने मंच से यह कहा भी है कि वे भगवान से डरते हैं। अपने पिता से डरते हैं। बाकी किसी से नहीं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments