Friday, September 24, 2021
Homeछत्तीसगढ़बच्चा चोरी करके बेचने जा रही थी, 500 CCTV की जांच के...

बच्चा चोरी करके बेचने जा रही थी, 500 CCTV की जांच के बाद पुलिस को मिला था सुराग

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित सिम्स से बच्चा चोरी कर भागने वाली युवती को RPF ने गिरफ्तार कर लिया है। बच्चा चोरी कर युवती दिल्ली बेचने जा रही थी। सूचना पर RPF ने युवती को मध्यप्रदेश के उमरिया रेलवे स्टेशन पर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन से पकड़ा है। पुलिस उसे बच्चे के साथ लेकर बिलासपुर आ रही है। पकड़ी गई युवती बिलासपुर के ही जगमल चौक निवासी रितु यादव है। इस मामले में पुलिस उसके प्रेमी पुष्पेंद्र गोड़ को एक दिन पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। ज्यादा जानकारी पुलिस के पहुंचने के बाद मिलेगी।

जानकारी के मुताबिक, 19 अगस्त को सिम्स अस्पताल से 7 महीने के बच्चे हमराज को चोरी किया गया था। हमराज को लेकर उसकी मां विशाखा और पिता सफर शाह 7 अगस्त को लूथरा शरीफ गए थे। वहां से 18 अगस्त को वे करगी रोड कोटा जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंची थी। ट्रेन नहीं मिलने के कारण बच्चे के माता-पिता रात स्टेशन में ही रुक गए। अगले दिन सुबह युवक-युवती उनके पास पहुंचे और थोड़ी देर बातचीत करने के बाद बच्चे के साथ खेलने लगी।

आरोपी उपचार के बहाने साथ लेकर गए थे सिम्स

माता-पिता के अनुसार हमराज को सर्दी हो गई थी। इसलिए वह उसे सिम्स ले कर जाने वाले थे। बातचीत में उन्होंने यह बात आरोपी युवक-युवती को बता दी। इसके बाद उपचार कराने के बहाने हमराज़ और उसकी मां को दोनों अरोपी सिम्स अस्पताल ले गए, वहां से युवती बच्चे को चोरी कर भाग गई। इसके बाद मामला पहले सिम्स के शिकायत केंद्र और फिर कोतवाली को ट्रांसफर किया गया। पुलिस ने जांच कर 4 दिन में ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

युवती का बॉयफ्रेंड गिरफ्तार हुआ तो खुला मामला

सिम्स से बच्चा चोरी करने वाले आरोपियों को पता लगाने के लिए पुलिस ने 500 CCTV कैमरे चेक किए। इसमें एक संदिग्ध युवक दिखाई दिया। पुलिस ने घेराबंदी कर सत्यम चौक के पास से आरोपी पकड़ लिया। पूछताछ में पकड़े गए आरोपी पुष्पेंद्र गोड़ ने बताया कि उन्हें एक दुधमुंहे बच्चे की तलाश थी। इसके लिए वह इधर-उधर घूम रहा था। हमराज और उसके माता-पिता को देखा। इसके बाद उसने अपनी गर्लफ्रेंड रितु यादव को मैसेज कर बुलाया और बच्चा चोरी कर भाग निकले।

बहन ने बताया कि स्टेशन पर छोड़कर आई बच्चे के साथ

पूछताछ में युवक ने बताया कि रितु तोरवा नाका चौक स्थित एक हॉस्पिटल के बगल गली में मां और बहन के साथ रहती है। पुलिस ने रितु के घर रेड किया तो पता चला कि वह एक बच्चे के साथ घर आई थी और टिकरापारा में किराए का मकान लेकर रहती है। रितु यादव की बहन ने उससे सामान के साथ रेलवे स्टेशन छोड़ना बताया। कहा कि वह दोपहर करीब 3 बजे ट्रेन से गई है। पुलिस ने मोबाइल से उसका लोकेशन ट्रेस किया तो अनूपपुर फिर शहडोल में मिला।

RPF ने सूचना पर शुरू की ट्रेन में चेकिंग

पुलिस ने RPF से संपर्क किया और उसने ट्रेन की तलाशी शुरू की। संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को चेक किया लेकिन कामयाबी हासिल नहीं मिली। इसके बाद ट्रेन के स्टॉपेज को लेकर समस्या आ रही थी। ऐसे में CSP निमेष बरैया ने रेलवे के अफसरों से बात की और ट्रेन को उमरिया स्टेशन पर रुकवा लिया। उसके आते ही RPF को एक्टिव किया गया और S-7 कोच के सीट नम्बर 70 में हमराज को लेकर बैठी रितु यादव को पकड़ लिया गया।

एक डायरी के साथ आपत्तिजनक सामान बरामद

जानकारी के अनुसार आरोपी रितु यादव के टिकरापारा स्थित किराए के मकान की तलाशी में पुलिस को छत्तीसगढ़ शासन की एक डायरी मिली है। इसमें शहर के कई नामी गिरामी लोगो के साथ राज्य और दिल्ली से जुड़े नाम और मोबाइल नम्बर दर्ज हैं। पुलिस उन सभी नामों की पड़ताल कर रही है। इसके साथ ही पुष्पेंद्र की निशानदेही पर रितु यादव की सहेली और दो अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया है। उसने भी पूछताछ की जा रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments