Sunday, September 26, 2021
Homeराज्यहिसार : देश का पहला साेलर आधारित ग्रीन हाउस 12 कराेड़ रुपए...

हिसार : देश का पहला साेलर आधारित ग्रीन हाउस 12 कराेड़ रुपए से एचएयू में हाे रहा तैयार

हिसार : शहर के चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय में 12 कराेड़ रुपए देश का पहला साेलर आधारित हाईटेक ग्रीनहाउस सिस्टम तैयार हाे रहा है। 7500 वर्गमीटर क्षेत्र तैयार हाे रहे ग्रीन हाउस की छत पर फाेटाेवाेल्टिक माॅड्यूल लगाकर सूर्य की किरणाें से 500 किलाेवाट बिजली पैदा हाे सकेगी, जिसे प्लांट अपनी ऊर्जा की जरूरताें के लिए पूरा करेगा, अगर अतिरिक्त बिजली रहती है ताे उसे ग्रिड में ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

बिजली पैदा हाेने के बाद ग्रीन हाउस में सिंचाई से लेकर तापमान मेंटेन करने का काम इससे ही किया जाएगा। इसका आकार अभी तक एचएयू या प्रदेश के दूसरे स्थानाें पर लगे ग्रीन हाउस से कई गुना बड़ा है। अभी तक यह तकनीक नीदरलैंड, यूएसए जैसे कुछ ही देशाें में सीमित है। इस टेक्नोलॉजी के आने के बाद से वैज्ञानिकाें काे अलग-अलग तापमान, राेशनी, पानी की मात्रा आदि के हिसाब से क्राॅप पर रिसर्च करने में मदद मिलेगी। इसके लिए एचएयू और राजीव गांव कृषि विकास याेजना के तहत फंडिंग की गई है।

ये हाेंगी खासियतें 

  •     इस ग्रीन हाउस में बागवानी, सब्जियां, फाॅरेस्ट्री, बायाेटेक्नाेलॉजी, वर्टिकल फार्मिंग, हाइड्राेफाेनिक आदि सेक्टर में रिसर्च करने में मदद मिलेगी।
  •     सभी प्रकार के कंपाेनेंट का एन्वायर्नमेंट कंट्राेल पूरी तरह से ऑटोमेटिक हाेगा।
  •     यह प्राेजेक्ट अपनी ऊर्जा की जरूरत काे खुद पूरा करेगा। अगर फिर भी ऊर्जा बच जाती है ताे उसे ग्रिड में ट्रांसफर किया जा सकता है।
  •     रेन वाटर हार्वेस्टिंग तकनीक द्वारा जल संचय कर फसलाें की पानी की जरूरत काे पूरा किया जाएगा।

ऑटोमेटिक तरीके से अपना काम करेगा :

देश में पहला साेलर आधारित हाइटेक ग्रीन हाउस तैयार किया जा रहा है। जाे ऑटोमेटिक तरीके से अपना काम करेगा और रिसर्च काे अलग स्तर तक ले जाने में मदद करेगा।  -प्राे. केपी सिंह, कुलपति, एचएयू, हिसार

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments