Thursday, September 23, 2021
Homeमहाराष्ट्रमहाराष्ट्र में 'ताऊ ते' की तबाही:आम के 1000 हेक्टर से अधिक बागों...

महाराष्ट्र में ‘ताऊ ते’ की तबाही:आम के 1000 हेक्टर से अधिक बागों को तबाह कर गया तूफान

सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी,रायगढ़, ठाणे, पालघर और मुंबई में ‘ताऊ ते’ चक्रवाती तूफान से हुए भारी नुकसान की भरपाई को लेकर आज होने वाली कैबिनेट की बैठक में कोई महत्वपूर्ण फैसला हो सकता है। प्रभावित लोगों के लिए ठाकरे सरकार आज कोई मुआवजे का ऐलान कर सकती है। भाजपा विधायक नितेश राणे ने सरकार पर राहत पैकेज घोषित करने में देरी का आरोप लगाते हुए निशाना साधा है।

मुंबई समेत राज्य के कई हिस्सों में भारी संख्या में पेड़ गिरे हैं और कई जगह गाड़ियां भी क्षतिग्रस्त हुई हैं।

राणे ने कहा कि 30 जुलाई 2020 में जब महाराष्ट्र में ‘निसर्ग’ चक्रवात आया था, तब कोंकण के आयुक्त ने 8.75 करोड़ रुपए की राशि नुकसान भरपाई देने के लिए मांगी थी। मगर राज्य सरकार ने 37.19 लाख रुपए जिन घरों को थोड़ा-बहुत नुकसान हुआ था उनके लिए और फसलों के नुकसान के लिए 12.49 लाख रुपए यानी कुल सिर्फ 49.60 लाख रुपए की ही मदद राशि दी थी।

विधायक राणे ने आगे सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देख लिजिए ठाकरे सरकार कोंकण के लोगों से कितना कितना प्रेम करती है। इतना प्रेम कभी किसी ने कोंकण से नहीं किया है। देख लेना इस ‘ताऊ ते’ चक्रवाती तूफान के लिए भी ठाकरे सरकार भरपूर नुकसान भरपाई घोषित करेगी।

निसर्ग के वक्त सिर्फ 5 रुपए प्रति पेड़ की मदद की थी: दरेकर

विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर ने भी निशाना साधते हुए कहा,’निसर्ग चक्रवात के वक्त जिन बागवानों के नारियल के पेड़ गिरे थे। उन्हें प्रति पेड़ के हिसाब से सिर्फ 5 रुपए दिए गए।’ उन्होंने कहा कि 5 हजार से 10 हजार रुपए की मदद देने से फलों के बाग फिर से तैयार नहीं हो पाएंगे। इसलिए सरकार बागवान में पैदा हुई फसल के हिसाब से मुआवजे का भुगतान करे।

आम के एक हजार हेक्टर से अधिक बागों को तबाह कर गया चक्रवात

सिंधुदुर्ग के एक कृषि अधिकारी ने बताया कि ‘ताऊ ते’ चक्रवाती तूफान ने जिले के बागवानी करने वाले किसानों की कमर ही तोड़ दी है। यहां के करीब 3,375.16 हेक्टर क्षेत्रफल के बागों को चक्रवाती तूफान ने तबाह कर दिया है। यहां के 172 गांवों के 1,059 बगवानी करने वाले किसानों को भारी नुकसान हुआ है। अकेले 1,110.42 हेक्टर क्षेत्रफल में आम के बाग को नुकसान पहुंचा है। 277.61 हेक्टर क्षेत्र में आम चक्रवाती तूफान की वजह से गिरे जबकि 832 हेक्टर क्षेत्र में आम के पेड़ों को टहनी और डालियां टूट गई हैं। सिंधुदुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री उदय सामंत ने बताया कि मछुआरों के साथ-साथ आम और काजू सहित अन्य फलों को भी चक्रवाती तूफान से भारी नुकसान हुआ है।

रायगढ़ में मृतकों की संख्या 4 हुई
रायगढ़ जिले में चक्रवाती तूफान ‘ताऊ ते’ की वजह से चार लोगों की मौत हुई है। इसमें निता भालचंद्र नाइक (50), सुनंदाबाई भिमनाथ घरत (55), रामा बाळू कातकरी (80) और रमेश नारायण साबले (46) शामिल है। जिलाधिकारी निधी चौधरी ने सभी तहसीलदारों को मृत व्यक्ति, मृत जानवर सहित अन्य नुकसान का जल्द से जल्द पंचनामा कर रिपोर्ट देने का कहा है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments