Sunday, September 26, 2021
Homeदिल्लीगाजीपुर-सिंघु बॉर्डर पर तिरंगा फहराकर निकाली यात्रा

गाजीपुर-सिंघु बॉर्डर पर तिरंगा फहराकर निकाली यात्रा

स्वतंत्रता दिवस पर गाजीपुर बॉर्डर और सिंघु बॉर्डर पर तिरंगा आन-बान-शान से लहराया। किसानों ने यूपी-दिल्ली बॉर्डर स्थित धरनास्थल को तिरंगों से पाट दिया। झंडारोहण के साथ रास्ट्रगान हुआ। किसानों ने शपथ ली कि तीन कृसि कानूनों की वापसी के बिना वह भी अपने घर नहीं जाएंगे।टिकैत उत्तराखंड में रहे मौजूद

भाकियू के रास्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने पूर्व में ऐलान किया था कि वह दिल्ली के अंदर जाकर तिरंगा फहराएंगे। इसके बाद 12 अगस्त को उन्होंने कहा कि दिल्ली में उनका तिरंगा फहराने का कोई प्रोग्राम नहीं है। किसान पिछले नौ महीने से जहां पर धरना दे रहे हैं, वहीं झंडा फहराया जाएगा। हालांकि सोमवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राकेश टिकैत खुद उत्तराखंड के एक गांव में मौजूद रहे।

सिंघु बॉर्डर पर तिरंगा फहराने के बाद किसानों ने रास्ट्रगान गाया।
सिंघु बॉर्डर पर तिरंगा फहराने के बाद किसानों ने रास्ट्रगान गाया।

बाइक-ट्रैक्टरों पर लगाए तिरंगे

यूपी-दिल्ली सीमा (गाजीपुर बॉर्डर पर) पर भारतीय किसान यूनियन के वरिस्ठ नेता युद्धवीर सिंह, राजवीर सिंह जादौन की अगुवाई में किसान सोमवार सुबह से इकट्ठा होना शुरू हो गए। कोई ट्रैक्टर तो कोई बाइक पर तिरंगा लहराता हुआ किसान क्रांति गेट पर पहुंचा। सिर्फ बॉर्डर के 200 मीटर एरिया में ही तिरंगा यात्रा निकाली गई। किसानों के सभी तंबुओं, वाहनों पर तिरंगा फहराया गया। इसी तरह सिंघु बॉर्डर पर भी तिरंगा फहराया गया और रास्ट्रगान हुआ।

प्रदेशाध्यक्ष बोले- तीनों कानूनों से आजादी मिले

भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन ने कहा कि किसान पिछले नौ महीने से अपने हक के लिए दिल्ली के बॉर्डरों पर बैठे हैं। असली स्वतंत्रता दिवस तब होगा, जब किसानों को इन तीन कानूनों से आजादी मिल जाएगी। हम तभी हटेंगे, जब तीनों काले कानून रद हो जाएंगे।

किसानों की तिरंगा यात्रा के मद्देनजर डीआईजी ने गाजीपुर बॉर्डर का दौरा किया।
किसानों की तिरंगा यात्रा के मद्देनजर डीआईजी ने गाजीपुर बॉर्डर का दौरा किया।

दिनभर अलर्ट रही पुलिस, डीआईजी ने किया दौरा

किसानों की तिरंगा यात्रा को लेकर पुलिस दिनभर अलर्ट रही। गाजीपुर बॉर्डर पर कई लेयर की बेरीकेडिंग थी। बेरीकेडिंग के दोनों तरफ यूपी और दिल्ली पुलिस के जवान खड़े हुए थे। सघन चेकिंग के बाद ही वाहनों को एंट्री मिल रही थी। पुलिस को इनपुट था कि तिरंगा यात्रा की आड़ में कुछ भी हंगामा हो सकता है। इसे लेकर अतिरिक्त निगरानी रखी गई। दोपहर में गाजियाबाद के डीआईजी/एसएसपी अमित पाठक ने गाजीपुर बॉर्डर का दौरा कर सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

चंद्रशेखर आजाद नहीं पहुंचे

आजाद समाज पार्टी के रास्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने 14 अगस्त की दोपहर 2.13 बजे ट्वीट करके लिखा था- ’15 अगस्त 2021 को स्वतंत्रता दिवस के एतिहासिक अवसर पर मैं कल पूरे दिन गाजीपुर बॉर्डर रहूंगा। देश के अन्नदाताओं को गुलाम बनाने की साजिश के खिलाफ चल रहे आंदोलन में शामिल होकर अन्नदाताओं के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाउंगा’। हालांकि सोमवार दोपहर 1 बजे तक भी चंद्रशेखर आजाद गाजीपुर बॉर्डर नहीं पहुंचे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments