Saturday, September 18, 2021
Homeदेशबयान : भारत ने कहा- 26/11 मुंबई हमले का मास्टरमाइंड पाकिस्तान की...

बयान : भारत ने कहा- 26/11 मुंबई हमले का मास्टरमाइंड पाकिस्तान की खातिरदारी का लुत्फ उठा रहा

नई दिल्ली. विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय अच्छी तरह जानता है कि पाकिस्तान मुंबई आतंकी हमले (26/11 हमले) के अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर गंभीर नहीं है। हमले का मास्टरमाइंड जमात-उद-दावा का सरगना हाफिज सईद खातिरदारी का लुत्फ ले रहा है और आजाद घूम रहा है।

मुंबई आतंकी हमले के पाकिस्तान में ट्रायल को लेकर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘हम सभी जानते हैं कि हमले के अपराधी कौन थे। हम जानते हैं कि मास्टरमाइंड कौन हैं। यह भी जानते हैं कि इस हमले का मास्टरमाइंड बेरोकटोक घूम रहा है।’’

2008 में लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकियों ने पाकिस्तान से समुद्री रास्ते से मुंबई में प्रवेश कर हमले को अंजाम दिया था। इसमें 166 लोग मारे गए थे और 300 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। गोलीबारी के दौरान कई बम धमाके भी हुए थे। 9 आतंकियों को मार दिया गया था। अजमल कसाब को जिंदा पकड़ा गया था, जिसे बाद में फांसी दे दी गई।

जाधव की काउंसलर एक्सेस के लिए पाकिस्तान के संपर्क में: विदेश मंत्रालय

भारत ने पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव के तत्काल, प्रभावी और अबाधित काउंसलर एक्सेस के लिए कहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि इस मामले पर राजनयिक चैनलों के जरिए पड़ोसी देश के संपर्क में है। दोनों देशों के बीच बातचीत जारी है। देखते हैं पाकिस्तान की ओर से इस मामले में क्या प्रतिक्रिया आती है।

पाकिस्तान ने सितंबर में कहा था कि जाधव को दूसरी काउंसलर एक्सेस नहीं दी जाएगी। इसके बाद भारत ने कहा था कि वह इस मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) द्वारा दिए गए फैसले के आधार पर प्रयास करता रहेगा। 2 सितंबर को इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के प्रभारी गौरव अहलूवालिया ने जाधव से मुलाकात की थी। इसके बाद विदेश मंत्रालय ने कहा था कि जाधव काफी दबाव में थे।

जासूसी के आरोप में जाधव को मौत की सजा सुनाई थी

पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने जाधव पर जासूसी और आतंकवाद फैलाने का आरोप लगाकर अप्रैल 2017 में मौत की सजा दी थी। कुछ हफ्तों के बाद भारत काउंसलर एक्सेस की मांग को लेकर और मौत की सजा को चुनौती देने के लिए आईसीजे का रुख किया था। इस मामले में 17 जुलाई को अपने फैसले में आईसीजे ने पाकिस्तान को जाधव की सजा की समीक्षा करने का आदेश दिया। साथ ही बिना किसी देरी के उसे काउंसलर एक्सेस देने के लिए कहा था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments