Tuesday, September 28, 2021
Homeविश्वइजरायल-फलस्तीन के बीच जंग तेज, अमेरिका ने नेतन्याहू और फलीस्तीनी राष्ट्रपति से...

इजरायल-फलस्तीन के बीच जंग तेज, अमेरिका ने नेतन्याहू और फलीस्तीनी राष्ट्रपति से तनाव खत्म करने को कहा

इजरायल और फलस्तीन के बीच जंग तेज हो गई है। गाजा की ओर से इजरायल के कई शहरों पर रॉकेट हमले किए गए हैं। हमास ने इजरायल पर गाजा की ओर से एक हजार से अधिक राकेट दागे हैं। इस युद्ध में इजरायल ने भी अपने लड़ाकू विमानों से हमासे के ठिकानों पर हमले किए हैं।  इजरायल और फलस्तीन के बीच इस जंग में गाजा में 65 फलीस्तीनियों को मारा गया है जबकि इस भीषण युद्ध में 7 इजरायली अब तक जान गंवा चुके हैं। इसमें हमास के मिलिट्री विंग के शीर्ष कमांडर सहित 16 सदस्यों को मारा गया है। इजरायल और फलस्तीन के बीच जारी इस संघर्ष से दुनियाभर के देश चिंतित हैं। दोनों ही ओर से रॉकेट हमले जारी हैं।

फलस्तीन के चरमपंथी संगठन हमास(HAMAS) और इजरायल के बीच हिंसा ने दुनिया की चिंता बढ़ा दी है। इजरायल और फलस्तीन के बीच इस जंग में अब तक 65 फलीस्तीनी मारे गए हैं। 7 इजरायलियों की मौत हुई है। अमेरिका की तनाव को खत्म करने की अपील।

अमेरिका ने की तनाव खत्म करने की अपील

अमेरिका ने इजरायल और फलस्तीन ने तनाव खत्म करने की अपील की है। अमेरिका की ओर से पहले इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से तनाव खत्म करने की अपील की गई है उसके बाद फलीस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास से बात कर उनसे भी तनाव को खत्म करने को कहा गया है। अमेरिका के विदेश मंत्री नेड प्राइस ने इन दोनों राष्ट्राध्यक्षों से बातचीत की है।

गौरतलब है कि इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू कहा है कि जरूरत पड़ने पर इजरायल अधिक ताकत का इस्तेमाल करेगा। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि हमास और दूसरे छोटे इस्लामिक संगठन इस आक्रमकता की भारी कीमत चुकाएंगे। बेंजामिन नेतन्याहू ने बुधवार को कहा है कि इजराइल सीमा पुलिस बल की तैनाती करके अराजकता को रोकेगा। इजराइल के रक्षा मंत्री बेनी गांट्ज ने चेतावनी देते हुए कहा है कि ये हमले तो सिर्फ शुरुआती है। वहीं हमास ने कहा है कि अगर इजराइल इसे और भी ज्यादा बढ़ाना चाहता है तो हमास भी तैयार हैं।

2014 के बाद दोनों के बीच इतना भीषण संघर्ष पहली बार हुआ है। इजरायल के हमले से गाजा में एक सात मंजिला इमारत ध्वस्त हो गई वहीं एक अन्य इमारत बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुई है। गाजापट्टी पर हो रहे हमले के बीच लोगों ने कहा कि इजरायल अब बौखला गया है। हमलों से इजरायली जनता की भी नींद उड़ी हुई है। रातभर सायरनों की आवाज और धमाकों से लोग बेचैन हैं। हमास ने दावा किया है कि उसने इजरायल के तेल अवीव, बेर्शेबा, अश्केलोन और अशदोद शहर में दो सौ से ज्यादा राकेट दागे हैं। इस संघर्ष को देखते हुए पूर्वी यरुशलम से फलस्तीन परिवारों को हटाने के लिए चल रही कोर्ट की सुनवाई भी स्थगित कर दी गई है।

भारत ने कहा- तत्काल रोकी जाए हिंसा 

भारत ने इन हमलों की निंदा करते हुए तत्काल हिंसा को रोकने की अपील की है। इजरायल और फलस्तीनी टकराव पर भारत ने सभी हिंसक गतिविधियों खासकर गाजा से राकेट हमलों की निंदा करते हुए संघर्ष को फौरन रोके जाने की जरूरत बताई है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी.एस.तिरुमर्ति ने बुधवार को ट्वीट कर लिखा- ‘भारत हिंसा के सभी कृत्यों विशेषकर गाजा से राकेट हमलों की निंदा करता है।उन्होंने इजराइल में एक भारतीय नागरिक की मृत्यु पर शोक जताया और जोर देकर कहा कि यह वक्त का तकाजा है वहां सभी पक्ष हिंसक कार्रवाई को बंद करें।’

गौरतलब है कि गाजा की ओर से किए गए हमले में इजरायल में भारतीय महिला सौम्या संतोष की मौत हो गई। केरल के इदुक्की जिले की रहने वाले संतोष इजरायल के तटीय शहर अश्केलोन के एक घर में काम कर रही थीं।

फलस्तीन के साथ PAK

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि उनका देश फलस्तीन के साथ है। इजरायल को फलस्तीन के साथ अत्याचार बंद करना चाहिए

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments