Tuesday, September 28, 2021
Homeहरियाणाथाने पहुंच युवक बोला- जानबूझ कर नहीं किया अपमान

थाने पहुंच युवक बोला- जानबूझ कर नहीं किया अपमान

थानेसर में तिरंगा यात्रा के दौरान तिरंगे के कथित अपमान मामले में बुधवार को नया मोड़ आ गया। यात्रा में विधायक के साथ चल रहे जिस युवक से ध्वज ऊपर नीचे हुआ, वह खुद ही सामने आ गया। थाने पहुंच अपनी भी गलती मानी। उन्होंने कहा कि वीडियो में आधा वाक्या ही दिखाया गया। सेल्फी लेने के चलते ध्वज नीचे हुआ था। यह उसकी गलती थी, लेकिन यह जानबूझ कर नहीं किया। उन्होंने कहा कि वायरल वीडियो में जानबूझ कर इससे आगे का हिस्सा नहीं दिखाया।

विधायक की तो इसमें कोई गलती नहीं। न ही उनसे तिरंगे का अपमान हुआ। कृष्णगेट थाना पुलिस ने युवक के बयान दर्ज करे। साथ वीडियो में भी उसके बयान रिकॉर्ड किए गए। बता दें कि वायरल वीडियो में उक्त युवक का चेहरा पूरी तरह नहीं दिख रहा था। पुलिस भी उसकी पहचान में लगी थी। ताकि उससे पूरे घटनाक्रम की जानकारी ले सके। वहीं भाजपाई भी इसमें साजिश की आशंका जता रहे हैं। युवक ने कहा कि उसके परिजन भाजपा से जुड़े हैं।

छवि खराब करने का प्रयास : वहीं विधायक सुभाष सुधा का कहना है कि पार्टी को बदनाम करने का प्रयास किया। उनकी छवि को खराब करने का प्रयास किया गया। अब सच्चाई सामने आ रही है। उनका पूरा परिवार इसे लेकर मानसिक तौर पर परेशान हुआ। वह इस मामले को लेकर कोर्ट भी जाएंगे।

वायरल वीडियो देखा तो थाने जाकर दिया बयान

बुधवार को सिरसला निवासी अंकित नामक युवक कृष्णागेट थाना पहुंचा। युवक ने बताया कि 8 अगस्त को थानेसर तिरंगा यात्रा में वह भी शामिल हुआ था। उसका बड़ा भाई भाजपा में है। उसके कहने पर वह भी यात्रा में पहुंचा। भीड़ काफी थी। इसी बीच वह विधायक के नजदीक पहुंच गया। जहां चलते चलते उसने विधायक के साथ सेल्फी लेनी चाही। जिससे तिरंगे वाला हाथ नीचे होने से तिरंगा भी नीचे आया। यह उसकी गलती थी। इसका अहसास होते ही उसने तिरंगा ऊपर किया। माथे से लगाने के बाद तुरन्त चूमा भी था, लेकिन वायरल वीडियो में यह नहीं दिखाया गया। विधायक सुभाष सुधा को इसके बारे में कुछ नहीं पता था। न उनसे तिरंगे का अपमान हुआ। कहा कि जब उसने वीडियो देखा तो वह थाने पहुंचा।

पुलिस ने बयान किए रिकॉर्ड : थाना प्रभारी मलकीत सिंह

युवक खुद ही सामने आया। थाना प्रभारी मलकीत सिंह का कहना है कि अंकित नामक युवक खुद थाने आया। वीडियोग्राफी के साथ उसके बयान दर्ज किए। युवक का कहना है ध्वज नीचे जरूर हुआ, लेकिन यह सब उसने जानबूझ नहीं किया। युवक ने ध्वज नीचे आने को लेकर गलती मानी। प्रथम दृष्टया यही सामने आया कि उसने जानबूझ कर नहीं किया। पुलिस पूरी वीडियो की तलाश कर रही है। ताकि पूरा सच सामने आए।

भाकियू ने अपमान का आरोप लगा फूंके थे पुतले

बता दें कि भाजपा की आठ अगस्त की शहर में तिरंगा यात्रा में तिरंगे का अपमान करने का आरोप लगाते हुए भाकियू ने जिले भर में 9 अगस्त को प्रदर्शन किया। थानेसर विधायक के पुतले भी फूंके गए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments