Tuesday, September 21, 2021
Homeविश्वअफगानिस्तान में काम कर रहे पत्रकारों को उनकी कंपनियां दे रहीं सुरक्षा

अफगानिस्तान में काम कर रहे पत्रकारों को उनकी कंपनियां दे रहीं सुरक्षा

अफगानिस्तान (Afghanistan) पर तालिबान (Taliban) के काबिज होते ही वहां के लोगों की सुरक्षा पर सवालिया निशान लग गया है। सोमवार को काबुल एयरपोर्ट का भयावह मंजर इसका स्पष्ट संकेत है। इस बीच वहां के समाचारों से जुड़ी विभिन्न कंपनियां पिछले दो दशकों से वहां काम कर रहे अपने पत्रकारों और उनके परिवारों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं। अफगानिस्तान से एक साक्षात्कार में सीएनएन रिपोर्टर क्लैरिसा वार्ड (Clarissa Ward) ने  कहा कि कई तालिबान लड़ाकों को भी इस बात का यकीन नहीं था कि अफगानिस्तान को इतनी जल्दी फतह कर लेंगे। हालांकि उन्हें अपनी जीत पर कोई शक नहीं था। लेकिन उन्हें इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि यह सब इतनी जल्दी हो जाएगा।

अफगानिस्तान में तालिबान के आने के बाद वहां की स्थानीय मीडिया कंपनियांं अपने संंस्थान में काम करने वालों के लिए सजग है और उन्हें सुरक्षित रखने के लिए प्रयासरत है। समाचार पत्र से जुड़ी विभिन्न कंपनियां अपने पत्रकारों और उनके परिवारों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं।

अफगानिस्तान की सत्ता पर तेजी से कब्जा जमाने वाले तालिबान के तेजी से सत्ता पर कब्जा जमाने के कारण समाचार संगठन इस घटना को कवर करने के साथ ही अपने पत्रकारों और परिवारों की रक्षा करने तथा पिछले दो दशकों में उनके साथ काम करने वाले लोगों की मदद करने की कोशिश कर रहे हैं। समाचार संगठन लगातार अपनी सुरक्षा आवश्यकताओं का आकलन कर रहे हैं। एनबीसी न्यूज के रिचर्ड एंजल ने कहा कि उनके कर्मचारी अपने कार्यालय से बाहर एक सुरक्षित स्थान पर आ गए हैं। सीबीएस न्यूज की रोक्साना साबेरी ने सोमवार को अपने होटल के कमरे से काम किया। सोमवार को वाशिंगटन पोस्ट के प्रकाशक और सीईओ फ्रेड रयान ने बाइडन प्रशासन से 200 से अधिक कर्मियों और उनके लिए काम करने वाले लोगों के परिवारों की तरफ से मदद की गुहार लगाई। सुरक्षा कारणों से वे काबुल एयरपोर्ट के असैन्य क्षेत्र से सैन्य क्षेत्र में जाना चाहते हैं।

न्यूयार्क टाइम्स के अध्यक्ष और प्रकाशक ए जी सुल्जबर्जर ने कहा कि घटनाक्रम ने खतरनाक स्थिति पैदा कर दी है। उन्होंने कहा, ‘मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम अपने कर्मियों और उनके परिवारों को बाहर निकालने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।’ तालिबान की इजाजत के साथ सीएनएन ने एक  न्यूज रिपोर्ट बनाई और उनसे कहा गया कि वह महिला हैं, इसलिए एक किनारे खड़ी हो जाएं। उन्होंने कट्टरपंथी ताकतों के अनुरूप ही अपने सिर को अपने स्कार्फ से कस कर ढंक लिया। ताकि उनके बाल जरा भी नजर न आएं। इसी तरह एनबीसी न्यूज के रिचर्ड एंगल ने कहा कि उनके नेटवर्क ने उनके आफिस को अपेक्षाकृत सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कर दिया है। इसी तरह सोमवार को वाशिंगटन पोस्ट के प्रकाशक और सीईओ फ्रेड रायन ने बाइडन प्रशासन को एक अपील पर 200 से अधिक पत्रकारों और उनके परिवारों को सुरक्षा प्रदान करने को कहा गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments