Saturday, September 25, 2021
Homeचंडीगढ़चंडीगढ़ में आज से 30 अप्रैल तक दोपहर को पानी की सप्लाई...

चंडीगढ़ में आज से 30 अप्रैल तक दोपहर को पानी की सप्लाई नहीं होगी, पाइप लीकेज रिपेयर किए जा रहे हैं

शहर में आज से अगले 10 दिनों तक दोपहर को आने वाली पीने के पानी की सप्लाई को बंद किया जा रहा है। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि कजौली वाटर वर्क्स से आने वाली पाइप लाइन में कई स्थानों से लीकेज हो गई है उसकी रिपेयर का काम शुरु किया जाना है, जिसके चलते दोपहर की सप्लाई आज से 30 अप्रैल तक बंद रहेगी। इससे पहले मोहाली आने वाली पाइप लाइन को भी बंद किया गया था तो वहां पानी की क़िल्लत हुई थी। अब चंडीगढ़ के लोगों को दोपहर में पानी की क़िल्लत हो सकती है।

पिछले सप्ताह मोहाली में भी पानी सप्लाई बाधित होने से लोगों को परेशान होना पड़ा था।

पंजाब इरिगेशन डिपार्टमेंट की ओर से भाखड़ा नहर की विभिन्न लोकेशन पर आज से 30 अप्रैल तक रिपेयर का काम करवाया जाएगा। इस वजह से नहर का पानी का स्तर कम रहेगा, जिससे वर्क्स कजौली के इनटेक में पानी कम प्रेशर से आएगा। कजौली से भी सभी 6 लाइनों में राॅ-वाॅटर सेक्टर-39 वाॅटर वर्क्स में कम पहुंचेगा। इस कारण चंडीगढ़ नगर निगम की ओर से आज से 30 अप्रैल तक शहर में दोपहर की पानी सप्लाई नहीं दी जाएगी। वहीं, सुबह 4 बजे से 9 बजे और शाम को 6 बजे से 9 बजे तक पानी की सप्लाई नॉर्मल दी जाएगी।

शहर के स्कूलों में अभी छुट्टी है और कई लोग घर से काम कर रहे है ऐसे में घर में पानी की ज़रुरत ज्यादा होगी लेकिन अब कम पानी में लोगों को गुजारा करना होगा। नगर निगम अधिकारी चाहते है कि दोपहर की जो पानी की सप्लाई शुरू हुई है उसे बंद कर दिया जाए, क्योंकि इससे नगर निगम का हर साल 12 करोड़ रुपये का खर्चा बढ़ेगा। इसी साल 9 मार्च हुई सदन की बैठक में पार्षदों ने अपनी सैद्धांतिक मंजूरी भी दे दी थी लेकिन मेयर इसके इसके पक्ष में नहीं है। वह नहीं चाहते है कि उनके कार्यकाल में यह अतिरिक्त सप्लाई बंद हो।

उनका मानना है कि उनके कार्यकाल में सप्लाई बंद होने से किरकिरी होगी जबकि भाजपा के चंद पार्षद खर्चा बचाने के लिए इसे बंद करवाने के पक्ष में हैं। उनका मानना है कि जितनी राशि दोपहर की सप्लाई बंद करने से बचेगी उतनी लोगों को रेट कम करके राहत देनी चाहिए। शहर में साल 2019 में 20 अप्रैल से शहरवासियों को सुबह और शाम दो-दो घंटे अतिरिक्त समय के लिए पानी की सप्लाई शुरू की गई थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments