कई गुणों का भंडार हैं स्वाद में कड़वे ये फूड्स, इनके फायदे जान आप भी खाने को हो जाएंगे मजबूर

0
14

लोग अक्सर ऐसे फूड्स खाना पसंद करते हैं, जो जिनका स्वाद खाने में अच्छा लगता है। शायद ही कोई ऐसा हो, जो बेस्वाद चीजें पसंद करता हो। हालांकि, हमारे आसपास कई ऐसी चीजें मौजूद हैं, जो स्वाद में भले ही खराब हैं, लेकिन सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। ये सभी फूड आइटम्स खाने में कड़वे होते हैं, लेकिन इन्हें डाइट में शामिल करने से कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ कड़वे लेकिन बेहद फायदेमंद फूड आइटम्स के बारे में-

करेला

करेला एक बेहद लोकप्रिय सब्जी है, जो अपने कड़वे स्वाद के बावजूद भी पसंद किया जाता है। हालांकि, कई लोग इसके स्वाद की वजह से इसे खाने से कतराते हैं। अगर आप भी उन्हीं में से हैं, तो आपको जानकर हैरान होगी कि लो कैलोरी होने के साथ ही इसमें विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा होता है। इसके अलावा करेला ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित करने, पाचन को बढ़ावा देने और इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है।

एलोवेरा

मुख्य रूप से बालों और त्वचा के लिए फायदेमंद एलोवेरा हमारी सेहत के लिए भी काफी गुणकारी होती है। यह भी स्वाद में काफी कड़वा होता है, लेकिन विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने की वजह से यह पाचन समस्याओं, त्वचा से जुड़ी समस्याओं और पूरे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है।

हल्दी

भारतीय व्यंजनों का एक प्रमुख मसाला हल्दी भले ही खाने का स्वाद बढ़ाती है, लेकिन खुद इसका स्वाद बेहद कड़वा होता है। हालांकि, यह सेहत के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। औषधीय गुणों से भरपूर हल्दी में करक्यूमिन नामक कंपाउंड होता है, जिसमें शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं।

मेथीदाना

मेथी के बीज जिसे मेथीदाना के नाम से भी जाना जाता है, खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ ही सेहत भी दुरुस्त करता है। आमतौर पर भारतीय व्यंजनों में इस्तेमाल होने वाला मेथीदाना भी स्वाद में कड़वा होता है। हालांकि, यह फाइबर, विटामिन और मिनरल से भरपूर होता है और अपने ब्लड शुगर के लेवल को कम करने वाले प्रभावों के लिए जाना जाता है।

नीम

नीम की पत्तियां भी अपने बेहद कड़वे स्वाद के लिए जानी जाती हैं। हालांकि, यह आयुर्वेद में अपने औषधीय गुणों के लिए भी मूल्यवान मानी जाती हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं, जिनमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। साथ ही यह पाचन में सुधार, शरीर को डिटॉक्सीफाई करने और इम्युनिटी बेहतर करने में अहम भूमिका निभाते हैं।

कोको

हाई कोको कंटेंट वाले कच्चे कोको कैटेचिन और एपिकैटेचिन जैसे फ्लेवोनोइड के कारण कड़वा स्वाद हो सकता है। इन कंपाउंड में एंटीऑक्सीडेंट और सूजन-रोधी गुण होते हैं, जो संभावित रूप से हार्ट डिजीज के जोखिम को कम करते हैं और कॉग्नेटिव फंक्शन में सुधार करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here