कोरोनावायरस महामारी और लॉकडाउन की वजह से पैदा हुई अनिश्चितताओं के बीच शेयर बाजारों में जबरदस्त उतार-चढ़ाव देखने को मिला। इस अवधि में कई बड़ी कंपनियों के शेयर भी औंधे मुंह गिर पड़े। हालांकि, फार्मा और कुछ एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों में लचीलता देखी गई। हालांकि, बाद के महीनों में लॉकडाउन से जुड़ी पाबंदियों को हटाने और आर्थिक रिकवरी के संकेत मिलने के बाद शेयर बाजारों में एक बार फिर सुधार के संकेत देखने को मिले। कोविड-19 के टीकों के लेकर सकारात्मक खबरों के सामने आने के बाद नवंबर में शेयर बाजार एक बार फिर कोविड-19 के पूर्व स्तर पर पहुंच गए। अभी तो स्थिति है कि BSE Sensex 45,600 अंक के स्तर के ऊपर ट्रेंड कर रहा है। दूसरी ओर, NSE Nifty भी 13,300 अंक के स्तर के पार पहुंच गया है।

ऐसे में हम शेयर बाजार में निवेश करने वाले लोगों के लिए ऐसे शेयरों की सूची लेकर आए हैं, जिन्होंने कोविड-19 महामारी के बावजूद 2020 में अच्छी बुनियाद की बदौलत अच्छा प्रदर्शन किया।

Britannia

रेलिगेयर ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट (रिसर्च) अजीत मिश्रा के मुताबिक 2020 में Britannia Industries ने शानदार प्रदर्शन किया और निवेशकों को 30 फीसद तक का बढ़िया रिटर्न मिला। वॉल्यूम, उत्पादों के रेंज, उत्पादों के मजबूत पोर्टफोलियो और व्यापक वितरण नेटवर्क की वजह से कंपनी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा। यहां तक कि लॉकडाउन में भी कंपनी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा क्योंकि आवश्यक वस्तुओं को लेकर लोगों के पैनिक बाइंग से कंपनी के प्रोडक्ट्स की मांग में तेजी देखने को मिली। लॉकडाउन के दौरान कंपनी की आमदनी में Good Day, Marie और Nutri Choice जैसे ब्रांड्स का योगदान 80 फीसद से ज्यादा रहा। हमें उम्मीद है कि इस स्टॉक में अच्छा-खासा मोमेंटम आने वाले समय में भी बना रहेगा।

Reliance Industries

सैमको सिक्योरिटीज में सीनियर रिसर्च एनालिस्ट निराली शाह ने कहा कि 2020 में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों का प्रदर्शन शानदार रहा। कंपनी ने जियो प्लेटफॉर्म्स और उसके बाद रिलायंस रिटेल के लिए दो लाख करोड़ रुपये का फंड जुटाकर नया मुकाम हासिल किया है। मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी ने यह फंड कोविड-19 के ऐसे मुश्किल समय में जुटाया है, जब कई कंपनियां अपना अस्तित्व बचाने के लिए संघर्ष करने में लगी थीं। इस दिग्गज कंपनी में कई प्रमुख निवेशकों ने निवेश किया और इसकी वजह से कंपनी वायदे के मुताबिक पूरी तरह से कर्जमुक्त हो गई। मार्च के निचले स्तर से लेकर कंपनी ने 164 फीसद से ज्यादा तक का रिटर्न दिया है और धैर्य रखने वाले निवेशकों ने महज छह माह में जबरदस्त रिटर्न हासिल किए हैं। इसके अलावा कंपनी ने 10 रुपये अंकित मूल्य वाले प्रति इक्विटी शेयर के लिए 6.5 रुपये का लाभांश दिया, जिससे शेयरधारकों को और फायदा हुआ।

HCL Technologies Ltd (HCL Tech)

वेंचुरा सेक्योरिटीज के शोध विभाग के प्रमुख विनित बोलिंजकर के मुताबिक हाल के समय में विभिन्न आईटी प्रोडक्ट्स की मांग काफी अधिक तक बढ़ गई है। HCL Tech इंजीनियरिंग, रिसर्च और डेवलपमेंट (ER&D) के क्षेत्र में दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। इस कंपनी ने इस साल काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में होने वाले संभावित विकास और अन्य पहलुओं को ध्यान में रखकर यह कहा जा सकता है कि आने वाले समय में भी इसमें मजबूत वृद्धि देखने को मिलेगी। इस चीज का सीधा फायदा निवेशकों को मिलेगा।

Aarti Drugs Ltd (ADL)

बोलिंजकर के अनुसार दवा बनाने के लिए जरूरी कच्चे-माल के मांग में तेजी आई है। इससे उनकी कीमतों में भी वृद्धि देखने को मिली।  वैश्विक स्तर पर फार्मा सप्लाई चेन में ADL की भूमिका काफी अहम होती है। ADL’s को API से होने वाली आमदनी सालाना आधार पर 22.9% के उछाल के साथ  891 करोड़ रुपये पर पहुंच गई और इस तेजी के इस अभी आने वाले समय में बने रहने की संभावना है। इस वजह से इस साल निवेशकों को काफी फायदा हुआ है।