Thursday, September 23, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशप्रयागराज में दर्दनाक हादसा:बोलेरो चालक को झपकी आने के बाद गाड़ी अनियंत्रित...

प्रयागराज में दर्दनाक हादसा:बोलेरो चालक को झपकी आने के बाद गाड़ी अनियंत्रित होकर पलटी, हादसे में 5 लोग जख्मी

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले के थरवई इलाके में शनिवार देर शाम बीएसएफ जवान का परिवार हादसे का शिकार हो गया। इस हादसे में बीएसएफ जवान की पत्नी और दूध में ही बच्ची समेत 5 लोग घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने साथ में आ रही सैनिकों की टीम के साथ राहत एवं बचाव कार्य करके घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भेजा। जहां एक व्यक्ति की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। दरअसल बीएसएफ जवान की शुक्रवार को मौत हो गई थी।

प्रयागराज में शनिवार को एक सड़क हादसा हो गया।
  • लखीमपुर खीरी में सड़क हादसे में शुक्रवार को हो गई थी बिहार निवासी बीएसएफ जवान अभिजीत की मौत

लखीमपुर खीरी से सैनिक का शव लेकर बिहार जा रहा था परिवार

बिहार प्रान्त के कैमूर जनपद के मोहनिया गांव निवासी अभिजीत सिंह (28) बीएसएफ में सिपाही थे। उनकी पोस्टिंग लखीमपुर खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर थी। शुक्रवार को वहीं पर एक सड़क हादसे में अभिजीत की मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम के बाद परिजन उनका शव लेकर सेना के वाहन से कैमूर बिहार जा रहे थे। शव वाहन के पीछे बोलेरो में अभिजीत का परिवार था।

चालक को झपकी आने से हुआ हादसा

प्रयागराज के थरवई थाना क्षेत्र के तारनडीह गांव के सामने लखनऊ हाइवे पर बोलेरो चालक को देर शाम झपकी आ गई। जिससे बोलेरो अनियंत्रित होकर डिवाईडर से टकरा कर पलट गई। जिसमें सेना के जवान अभिजीत की पत्नी नेहा (25), अभिजीत की 22 माह की दुधमुंही बेटी जान्हवी, रिश्तेदार अभय सिंह (30), बीना सिंह (40), अभय का भाई अंकित सिंह (28) घायल हो गए।

घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया

चीख पुकार सुनकर पहुँचे ग्रामीणों ने बोलेरो में फंसे लोगों को बाहर निकाला और पुलिस को खबर दी। तब तक आगे आगे आर्मी के जवान जो पार्थिव शरीर ले जा रहे थे, उनको फोन करके घटना की जानकारी दी गई तो आर्मी के जवान वापस लौटे। 108 एम्बुलेंस की दो गाड़ियो से घायलों को उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल भेजा। जहां से अभय सिंह को एसआरएन हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया। अभय के सिर में गंभीर चोट लगी है। बाकी लोग प्राइमरी ट्रीटमेंट के बाद बिहार के लिए रवाना हो गए ।

अभिजीत की 22 माह की बेटी जान्हवी की चीख सुनकर मौजूद लोगों की आंखे नम हो गई । वह पापा-पापा बुला रही थी। उसको क्या पता कि उसके पापा कभी लौट कर नहीं आएंगे । पत्नी नेहा का रो रोकर बुरा हाल था। वह समझ नहीं पा रही थी क्या हो गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments