Sunday, September 26, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशकोरोना से जुड़वां इंजीनियर भाइयों की मेरठ में मौत, केंद्रीय मंत्री संजीव...

कोरोना से जुड़वां इंजीनियर भाइयों की मेरठ में मौत, केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के भाई ने भी दम तोड़ा

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले भले ही कम हो रहे हैं, लेकिन प्रदेश में इसके प्रभाव से मौत का मामला अभी उस गति पर है। मेरठ में एक शिक्षक को सोमवार को दोहरा आघात लगा है। इनके जुड़वां बेटों का कोरोना संक्रमण के कारण सोमवार को निधन हो गया, दोनों ही इंजीनियर थे। इनके अलावा मुजफ्फरनगर में केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान के एक भाई का भी कोरोना संक्रमण के कारण मंगलवार को निधन हो गया, जबकि दूसरे भाई की हालत भी गंभीर बनी हुई है।

मेरठ में एक शिक्षक को सोमवार को दोहरा आघात लगा है। इनके जुड़वां बेटों का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया दोनों ही इंजीनियर थे। मुजफ्फरनगर में केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान के भाई का कोरोना संक्रमण के कारण मंगलवार को निधन हो गया।

मेरठ में सेंट थॉमस स्कूल में शिक्षक दंपती को सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दोहरा आघात लगा। इनके जुड़वां पुत्रों को कोरोना ने अपनी लपेट में लिया। इंजीनियर भाइयों ने संक्रमण के बाद भी करीब 22 घंटा तक संघर्ष किया, लेकिन इनका संघर्ष अधिक नहीं चल सका। दोनों भाई साथ ही जन्मे, पले और बढ़े। एक साथ ही इंजीनियर बने और एक साथ अंतिम सांस ली।

मेरठ में 23 अप्रैल 1997 को एक साथ जन्म लेने वाले जोफ्रेड वर्गीस ग्रेगरी और राल्फ्रेर्ड जॉर्ज ग्रेगरी के जन्म पर उनके शिक्षक पिता ग्रेगरी रेमंड राफेल तथा माता सोफिया बेहद प्रसन्न थे। ग्रेगरी रेमंड ने बताया कि वो और उनकी पत्नी सेंट थॉमस स्कूल में पढ़ाते हैं। उनके दोनों बेटों ने कम्प्यूटर से बी-टेक की पढ़ाई की, जिसके बाद हैदराबाद में अच्छी कंपनियों में दोनों  की नौकरी लग गई। दोनों बेटों के जन्म में सिर्फ तीन मिनट का अंतर था, जिनमें राल्फ्रेड छोटा भाई था।

मेधावी छात्रों ने कम्प्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री ली और दोनों हैदराबाद में नौकरी कर रहे थे। दोनों एक साथ 24 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हो गए और इसके बाद इनका संक्रमण से संघर्ष करीब एक हफ्ता चला। सोमवार को इनका निधन हो गया। साथ जन्म लेने वालों के निधन के समय में एक घंटा का अंतराल रहा।

इसी 23 अप्रैल को दोनों ने अपना जन्मदिन मनाया था, लेकिन किसे मालूम था ये आखिरी जश्न होगा। जन्मदिन के अगले दिन ही वो कोरोना का शिकार हो गए और अब 13-14 मई को दोनों भाइयों ने दम तोड़ दिया। ग्रेगरी ने बताया कि दोनों बेटे दस मई को कोरोना नेगेटिव हो गए थे। दस मई के बाद ही दोनों की तबीयत फिर से बिगड़ी और 13-14 मई की रात में दोनों का निधन हो गया। साथ जन्म लेने वालों के निधन के समय में एक घंटा का अंतराल रहा।

दोनों भाई हैदराबाद से एक साथ घर आते थे। वह इस दुनिया से भी एक साथ चले गए। सेंटमेरीज के पास रहने वाले ग्रेगरी रेमंड राफेल और सोजा ग्रेगरी शिक्षक हैं। सेंट थॉमस इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाते हैं। इसी स्कूल में उन्होंने अपने जुड़वां बेटे जोफ्रेड वर्गीज ग्रेगरी और राल्फ्रेडो जॉर्ज को पढ़ाया। जो साफ्टवेयर इंजीनियर बनकर हैदराबाद में एक मल्टीनेशनल कंपनी में कार्यरत थे। हैदराबाद में 23 अप्रैल को दोनों भाई बीमार हुए तो घर आ गए। घर पर ही बुखार का इलाज चला। डॉक्टर की सलाह पर आंनद अस्पताल में दोनों भाइयों को भर्ती किया गया। 13 मई को जाफ्रेड ने अंतिम सांस की। अगले दिन 14 को राल्फ्रेडो ने दम तोड़ दिया। बीमार राल्फ्रेडो बीमारी की हालत में अपने भाई की हालत जाननी चाही तो माँ ने कहा कि उसे दिल्ली शिफ्ट किया जा रहा है। तब राल्फ्रेडो ने कहा था कि माँ तुम झूठ बोल रही हो। जुड़वां भाई के सपने बड़े थे, वह कोरिया और जर्मनी जाने का प्लान बना रहे थे। अपने माँ और पिता का सपना पूरा करने वाले जुड़वां भाई कभी न खत्म होने वाला दर्द दे गए।

केंद्रीय मंत्री के प्रधान भाई का निधन: मुजफ्फरनगर से सांसद केंद्र सरकार में राज्य मंत्री डॉ. संजीव बालियान के भाई का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया। इनके एक भाई गंभीर हालत में ऋषिकेश एम्स में अपना इलाज करा रहे हैं।

केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान के भाई  जितेंद्र कुमार बालियान (53 वर्ष) राजेन्द्र सिंह निवासी ग्राम कुटबी मुज्जफरनगर का ऋषिकेश एम्स में निधन हो गया। वह कोरोना संक्रमित थे। उनके पार्थिव शरीर को उनके बड़े भाई केंद्रीय मंत्री अपने पैतृक गांव ले गए। केंद्रीय पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन राज्यमंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान के भाई जितेंद्र बालियान को कुछ दिन पूर्व कोरोना संक्रमण के कारण एम्स ऋषिकेश में भर्ती किया गया था। मंगलवार सुबह वह कोरोना की जंग हार गए। मुजफ्फरनगर में कुटबी ग्रामसभा से निर्वाचित प्रधान जितेंद्र बालियान पंचायत चुनाव के बाद कोरोना संक्रमित हो गए थे। वह पिछले 15 दिनों से ऋषिकेश एम्स में भर्ती थे। जितेंद्र बालियान केंद्रीय मंत्री के ताऊ के लड़के थे। प्रधान के रूप में उनका लगातार दूसरा कार्यकाल था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments