Tuesday, September 28, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशउन्नाव मामला: जेल में सेंगर से मिलने वालों की कुंडली खंगालेगी CBI,...

उन्नाव मामला: जेल में सेंगर से मिलने वालों की कुंडली खंगालेगी CBI, मांगी लिस्ट

  • उन्नाव रेप मामले में सीबीआई ने दर्ज किया केस
  • सीबीआई ने मांगी सेंगर से मुलाकात करने वालों की लिस्ट
  • रविवार को रेप पीड़िता सड़क दुर्घटना में घायल हो गई थी.
  • उसका आरोप है कि विधायक सेंगर ने 2017 में उसके साथ रेप किया.

उन्नाव रेप मामले में जांच एजेंसी सीबीआई एक्शन में है. उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए एक्सीडेंट मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मामला दर्ज कर लिया है. इसके साथ ही सीबीआई ने बुधवार से ही अपनी जांच शुरू कर दी है. वहीं उत्तर प्रदेश की सीतापुर जेल में बंद विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से पिछ्ले कुछ महीनों में किन लोगों ने मुलाकात की, इसकी भी लिस्ट मांगी गई है. मुलाकात करने वाले लोगों से सीबीआई के जरिए पूछताछ की जाएगी.

सीबीआई को यह केस मंगलवार को सौंपा गया था. रविवार को उन्नाव रेप पीड़िता की गाड़ी की ट्रक के साथ भिड़ंत हो गई थी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी. इस हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी. पीड़िता का आरोप है कि उसके साथ बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर ने रेप किया. यह घटना साल 2017 की है.पीड़िता की सड़क दुर्घटना में घायल होने के बाद राजनीतिक बवाल मच गया है.

विपक्षी पार्टियां उत्तर प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था को लेकर निशाना साध रही हैं. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने सूबे की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला. प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘उन्नाव बलात्कार मामला व पीड़िता के पूरे परिवार को प्रताड़ित करना सत्ता के संरक्षण के बिना संभव नहीं. अब परतें खुल रही हैं व भाजपा नेताओं के नाम और पुलिस की लीपापोती सामने आ रही है. कांग्रेस न्याय के लिए प्रतिबद्ध है. ये लड़ाई हम मज़बूती से लड़ेंगे.’ वहीं अखिलेश यादव ने लिखा, ‘बलात्कार की पीड़िता की हत्या का प्रयास प्रतीत होने वाली इस तथाकथित दुर्घटना से देश-प्रदेश की हर एक मां, बहू, बेटी, बहन गहरे आघात में है. महिलाओं में इस घटना को लेकर जो रोष-आक्रोश है वो दोहरे चरित्रवाली सत्ता को बहुत मंहगा पड़ेगा. शर्मनाक. निंदनीय.’

वहीं बीजेपी ने मंगलवार को कहा कि आरोपी विधायक को पहले ही पार्टी के निलंबित किया जा चुका है. यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बताया, ‘सेंगर पहले से ही पार्टी से निलंबित चल रहे हैं. मेरी पूर्व अध्यक्ष से भी बात हुई है, पार्टी कुलदीप सेंगर को कभी बचाने के पक्ष में नहीं रही है. पार्टी पहले ही कुलदीप सेंगर को निलंबित कर चुकी है. सरकार निष्पक्ष जांच के पक्ष में है, इसलिए सीबीआई को जांच सौंपी गई है.’ विधायक कुलदीप सेंगर, उनके भाई मनोज सेंगर और आठ अन्य के खिलाफ सड़क दुर्घटना के एक मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments