UP में अब शव रखकर प्रदर्शन करना हुआ अपराध

0
32

यूपी (UP) में सड़क पर शव रखकर विरोध प्रदर्शन करना अब अपराध की श्रेणी में आ गया है। उत्तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) ने आपराधिक घटनाओं या दुर्घटनाओं में मारे गए लोगों के शवों के दाह संस्कार के संबंध में मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) तैयार की है। लोगों को अब सड़कों पर शव रखने और विरोध में यातायात अवरुद्ध करने की अनुमति नहीं होगी। ऐसा करना अब दंडनीय अपराध (Punishable Crime) होगा।

गृह विभाग के प्रवक्ता के अनुसार, इस संबंध में एक जनहित याचिका पर हाईकोर्ट के आदेश पर एसओपी आता है। प्रवक्ता ने कहा, जो कोई भी सार्वजनिक स्थान या सड़क पर शव रखता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, क्योंकि यह मृतक का अपमान है।

एसओपी के अनुसार, जब मृतकों के परिवारों को पोस्टमार्टम के बाद शव सौंपे जाते हैं, तो उन्हें लिखित में देना होगा कि वे शव को सीधे अपने घर ले जाएंगे और उसके बाद श्मशान में दफन करेंगे। उन्हें विरोध के निशान के रूप में किसी भी स्थान पर शव रखने की अनुमति नहीं होगी। ऐसी गतिविधियों में हिस्सा लेने वाले किसी भी संगठन को भी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here