Sunday, September 19, 2021
Homeमध्य प्रदेशविवाद : छिंदवाड़ा में छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा हटाने पर हंगामा; शिवराज...

विवाद : छिंदवाड़ा में छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा हटाने पर हंगामा; शिवराज ने कहा- ये सरकार महापुरुषों के अपमान पर गर्व करती है

छिंदवाड़ा. जिले के सौंसर में मोहगांव तिराहे से छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा हटाए जाने पर बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री कमलनाथजी क्षमा याचना करें और छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा को ससम्मान स्थापित करने की तत्काल व्यवस्था करें। यह सरकार महापुरुषों का अपमान करने में गर्व का अनुभव करती है। यहां सोमवार रात नगरपालिका ने हिंदू संगठन द्वारा स्थापित की गई छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा को 24 घंटे के अंदर हटा दिया था। इसके विरोध में शिवसेना और अन्य हिंदूवादी संगठनों ने मंगलवार को सुबह से आंदोलन शुरू कर दिया और हाइवे पर चक्काजाम कर दिया। बाद में नपा और अफसरों ने आश्वासन दिया कि 19 फरवरी को शिवाजी महाराज की जयंती पर प्रतिमा को स्थापित कर दिया जाएगा।

शिवराज सिंह ने कहा- महाराष्ट्र की अघाड़ी सरकार में कांग्रेस भी शामिल है। शिवसेना छत्रपति शिवाजी महाराज को आदर्श मानती है। उनका ऐसा अपमान क्या वे सह पाएंगे? कहा- अगर आपत्ति थी तो उनकी प्रतिमा को सम्मानजनक तरीके से भी हटाया जा सकता था, लेकिन उनका अपमान किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। इधर, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के मीडिया कोऑर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा ने कहा कि प्रतिमा को लेकर भाजपा के नेता झूठ परोसने में लग गए हैं। प्रदेश की जनता को गुमराह और भ्रमित कर माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा।

लोगों ने हाइवे पर जाम लगा दिया और प्रदर्शन किया। प्रशासन के आश्वासन के बाद ही वह हटे।

प्रशासन का दावा- हिंदू संगठन ने बिना अनुमति के प्रतिमा लगाई थी
जनवरी में यहां छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा स्थापित करने की मांग को लेकर लोगों ने नगर पालिका प्रशासन को ज्ञापन दिया था। नपा अध्यक्ष ने तिराहे पर प्रतिमा के लिए एक जगह भी देखी थी। इधर, हिंदूवादी संगठनों ने प्रशासन की बिना अनुमति के चबूतरा बनवाया और रविवार-सोमवार की रात में प्रतिमा स्थापित कर दी। जब इसकी जानकारी प्रशासन को मिली तो एक टीम जेसीबी के साथ मौके पर पहुंची और सोमवार रात को अनुमति नहीं लेने का दावा करते हुए शिवाजी महाराज की प्रतिमा हटा दी थी।

प्रदर्शन के दौरान करीब 3 हजार लोग सड़कों पर उतर आए।

विरोध में लोगों ने हाइवे को 3 घंटे जाम किया 
मंगलवार सुबह बड़ी संख्या में लोग मोहगांव तिराहे पर पहुंचे गए। उन्होंने प्रशासन के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया। सुबह 8 से 11 बजे तक बड़ी संख्या में हिंदूवादी संगठनों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। तीन घंटे तक नेशनल हाइवे को जाम कर दिया। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी लोगों को समझाते रहे। इस दौरान सौंसर की दुकानें और शहर बंद रहा। प्रशासन द्वारा फिर से प्रतिमा स्थापित करने की स्वीकृति मिलने पर युवाओं ने रैली निकाली।

प्रशासन ने लोगों को 19 फरवरी को शिवाजी महाराज की जयंती पर प्रतिमा लगाने का आश्वासन दिया।

विधायक ने अधिकारियों के साथ बैठक की 
मंगलवार सुबह 11 बजे तहसील मुख्यालय में बैठक हुई। जिसमें विधायक विजय चौरे, पूर्व विधायक नानाभाऊ मोहोड, एसडीएम ओमप्रकाश सनोडिया, तहसीलदार डॉ. अजय भूषण शुक्ला समेत छत्रपति शिवाजी महाराज के समर्थक मौजूद रहे। अफसरों ने कहा कि मोहगांव तिराहे पर छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा स्थापित करने संबंधी हामी भरी। इस दौरान कहा कि गया कि 19 फरवरी शिवाजी महाराज की जयंती धूमधाम से मनाई जाएगी और मोहगांव तिराहे पर प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments