UTCA ने स्टेडियम का नाम बदल कर कपिल देव क्रिकेट स्टेडियम करने की मांग की

0
14

चंडीगढ़ की क्रिकेट एसोसिएशन (UTCA) का एक प्रतिनिधिमंडल आज एसोसिएशन के प्रेसिडेंट संजय टंडन के नेतृत्व में चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित से मिला है। इस दौरान कुछ पूर्व क्रिकेटर्स भी मौजूद थे।पंजाब के राज्यपाल और चंडीगढ़ के प्रशासक पुरोहित से एसोसिएशन ने सेक्टर-16 क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदल कर कपिल देव क्रिकेट स्टेडियम करने की मांग की गई है। जल्द ही इस मांग पर प्रशासक का निर्णय आने की उम्मीद है।संजय टंडन ने बताया कि आज यूटी क्रिकेट एसोसिएशन के 11 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल प्रशासक बीएल पुरोहित से मिला है। इस दौरान उन्हें बताया गया कि चंडीगढ़ ने एक क्रिकेट का सबसे बड़ा सितारा कपिल देव दिया। सेक्टर 16 के क्रिकेट स्टेडियम में ही उन्होंने अपनी शुरुआती क्रिकेट खेली। इसके बाद उन्होंने हरियाणा की तरफ से खेला और फिर राष्ट्रीय तथा बाद में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी जगह बनाई।

कपिल देव क्रिकेट स्टेडियम रखने की मांग की गई है। कपिल देव के साथ खेले उस समय के क्रिकेटर भी इस दौरान मौजूद थे। टंडन ने बताया कि इस मामले में चंडीगढ़ प्रशासन फैसला ले सकता है। इसीलिए प्रशासक के समक्ष यह मांग रखी गई है। वहीं उन्होंने कहा कि यदि ज़रुरत पड़ी तो केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से भी मिलेगें। स्टेडियम में काफी बच्चे कोचिंग लेते हैं और इस स्टेडियम में प्रैक्टिस करके कई खिलाड़ी भारतीय टीम में शामिल हुए हैं। चंडीगढ़ की टीम को अलग से रणजी में जगह मिलने के बाद से युवा क्रिकेटर्स में खेल के प्रति क्रेज बढ़ा है। युवराज सिंह के कोच रह चुके सुखविंदर सिंह बावा इस स्टेडियम में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) की तरफ से सीनियर कोच हैं। बता दें कि वर्ष 1983 वर्ल्ड कप भारत ने पूर्व क्रिकेटर कपिल देव की कप्तानी में जीता था। इस टूर्नामेंट में कपिल देव का प्रदर्शन शानदार रहा था। हाल ही में इस वर्ल्ड कप के ऊपर बॉलीवुड ने ’83’ नाम से फिल्म भी बनाई थी। एक्टर रणबीर सिंह ने कपिल देव का रोल निभाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here