Wednesday, September 22, 2021
Homeहरियाणाविज ने उठाया ऑक्सीजन अलॉटमेंट में भेदभाव का मुद्दा:दिल्ली को 85 हजार...

विज ने उठाया ऑक्सीजन अलॉटमेंट में भेदभाव का मुद्दा:दिल्ली को 85 हजार सक्रिय मरीजों पर 700, हरियाणा काे 1 लाख पर 282 एमटी ऑक्सीजन

कोरोना के लगातार बढ़ते मरीजों के चलते हर प्रदेश अपने लिए ज्यादा ऑक्सीजन मांग रहा है। अब इसमें भेदभाव की बातें भी सामने आने लगी हैं। अब नया विवाद हरियाणा और दिल्ली के ऑक्सीजन कोटे को लेकर सामने आया है। हरियाणा में एक्टिव केस ज्यादा होने के बावजूद भी प्रदेश को दिल्ली के मुकाबले 60 फीसदी ही ऑक्सीजन अलॉट हो रखी है। यह भी अभी तक कभी पूरी नहीं मिली।

स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री अनिल विज

ऐसे में जब सबसे ज्यादा संक्रमित आठ प्रदेशों के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बात की तो हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने यह मुद्दा उनके सामने रखा। उन्होंने कहा कि हरियाणा में इस वक्त एक लाख आठ हजार सक्रिय मरीज हैं, जबकि दिल्ली में 85 हजार ही हैं। इतना ही नहीं हरियाणा में दिल्ली के मरीज भी आ रहे हैं, जिनके उपचार की व्यवस्था भी हम कर रहे हैं।

इसके लिए अतिरिक्त बेड्स बढ़ाने पड़ रहे हैं। इसके बावजूद दिल्ली को 700 एमटी ऑक्सीजन दी हुई है और हरियाणा को केवल 282 एमटी कोटा मिला है। नियमानुसार देखा जाए तो हरियाणा में इस वक्त 400 एमटी ऑक्सीजन की जरूरत है।

विज ने यह भी मामला रखा कि दूसरे प्रदेशों से ऑक्सीजन सप्लाई में दिक्कत हो रही है। इसलिए हरियाणा को उसके कोटे की ऑक्सीजन यहां हो रहे प्रोडक्शन में ही दी जाए। प्रदेश में इस वक्त 280 एमटी ऑक्सीजन प्रोडक्शन की व्यवस्था है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन का दोबारा वितरण किए जाने की आवश्यकता है।

कोरोना संकट: 24 घंटे में 12,49 मरीज मिले, 175 की जान गई

हाईकोर्ट में भी उठ चुका है मुद्दा

ऑक्सीजन को लेकर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की ओर से स्वत: संज्ञान लेने के बाद बतौर एमिकस क्यूरी नियुक्त किए गए सीनियर एडवोकेट रूपिंदर खोसला भी अलॉटमेंट पर सवाल उठा चुके हैं। उन्होंने हाई कोर्ट को बताया था कि पांच राज्य हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड व जम्मू कश्मीर जितना कोटा अकेले दिल्ली का है। जबकि इन राज्यों में ज्यादा एक्टिव मरीज हैं।

मौतों की संख्या बढ़ा रही चिंता

पिछले दस दिनों से मौताें का आंकड़ा 159 से नीचे नहीं आ रहा है। बुधवार को प्रदेश में 175 लोगों की मौत हुई है। अब तक कुल 6429 लोगों की जान चुकी है। 24 घंटे में 12,495 नए मरीज मिले। कुल पॉजिटिव बढ़कर 6,54,068 हो गए हैं। गुरूवार को 14,264 मरीज स्वस्थ भी हुए। प्रदेश में अभी भी 1,08,030 एक्टिव मरीज हैं।

राहत

प्राइवेट लैब में जांच के रेट 49 रुपए घटाए

प्राइवेट लैब में कोरोना की आरटीपीसीआर जांच के रेट में 49 रुपए कम किए हैं। एसीएस राजीव अरोड़ा की ओर से जारी आदेशों में कहा गया है कि अब लैब में जांच कराने पर 450 तो घर से सैंपल लेने पर 650 रुपए चार्ज लिया जाएगा। इसमें जीएसटी से लेकर ट्रांसपोर्टेशन, पीपीई किट आदि अन्य चार्ज भी शामिल होगा। पहले लैब में 499 तो घर से सैंपल लेने पर 699 रुपए चार्ज तय किया गया था।

जरूरत

दूसरी खुराक के लिए वैक्सीन की जरूरत

प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक आयु के 37 लाख लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी गई है जबकि दूसरी खुराक 8 लाख लोगों मिली है। राज्य को वैक्सीन की और जरूरत है ताकि दूसरी खुराक समय पर दी जा सके। अभी प्रदेश में 45 प्लस के लोगों के लिए राज्य के पास करीब तीन लाख डोज बाकी है।

मंत्रियों के साथ बैठक में हुआ प्रतिदिन 60 हजार टेस्ट करने का निर्णय

  • सीएम मनोहर लाल ने बुधवार को मंत्रियों के साथ बैठक करके प्रतिदिन 60000 टेस्ट करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।
  • ग्रामीण स्वास्थ्य जांच अभियान के दौरान, आरटीपीसीआर टेस्ट के साथ रैपिड एंटीजन टेस्ट पर भी अधिक ध्यान दिया जाएगा।
  • बैठक में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजित करने का सुझाव आया, जिसके तुरंत अधिकारीयों को आदेश जारी किए।
  • हर जिले में 20 से 100 अतिरिक्त बेड का इंतजाम करने को कहा है, टेस्टिंग के लिए प्रदेश में टीमें गठित की गई हैं।
  • गांवों में आइसोलेशन सेंटर बनेंगे। इनमें ऑक्सीमीटर, स्टीमर, थर्मामीटर, ब्लड प्रेशर चेकिंग मशीन आदि की व्यवस्था की जाएगी।
  • प्राइवेट अस्पतालों में उपचाराधीन बीपीएल परिवारों के मरीजों की राशि सीधे अस्पतालों के बैंक खातों में भेजी जाएगी।
  • ऑक्सीजन सिलेंडर की सप्लाई 9 मई से शुरू कर दी है। अब तक कुल 4393 आवेदन प्राप्त हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments