Sunday, September 26, 2021
Homeदेशबंगाल में थम नहीं रही हिंसा, अब केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन के...

बंगाल में थम नहीं रही हिंसा, अब केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन के काफिले पर हमला

बंगाल में चुनाव नतीजों के बाद से लगातार जारी राजनीतिक हिंसा खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। अब केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन के काफिले पर गुरुवार को पश्चिम मेदिनीपुर जिले में हमले की खबर है। बताया जा रहा है कि उन पर खड़गपुर ग्रामीण विधानसभा के पंचखुड़ी में हमला किया गया है। उनकी कार के शीशे तोड़ दिए गए हैं।

बेकाबू हिंसा- केंद्रीय मंत्री सुरक्षित पश्चिम मेदिनीपुर जिले में हिंसा पीड़ित परिवारों से मिलने जाते समय उपद्रवियों ने किया हमला सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पर लगाया आरोप 50 की संख्या में उपद्रवियों ने किया हमला मुरलीधरन ने कहा- यह मेरे ऊपर नहीं लोकतंत्र के ऊपर हमला है

मिली जानकारी के अनुसार, यह हमला दोपहर लगभग एक बजे के आसपास हुआ है और हमले में विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन के ड्राइवर राहुल सिन्हा को चोटें आई हैं तथा गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए गए हैं। टूटी हुई गाड़ियों के अंदर लाठी- डंडे व पत्थरों के टुकड़े पड़े हुए नजर आ रहे हैं। ड्राइवर के अलावा काफिले के साथ चल रहे दो और लोगों के घायल होने की भी खबर है। इस पूरी घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। इसमें बड़ी संख्या में उपद्रवियों की भीड़ दिख रही है, जो ईंट व पत्थर बरसा रहे हैं।

विदेश राज्यमंत्री मुरलीधरन ने आरोप लगाया है कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने उनके काफिले पर हमला किया है। उनका कहना है कि जब पश्चिम मेदिनीपुर जिले में हिंसा पीड़ित परिवार से मिलने के लिए वे जा रहे थे, तभी रास्ते में 40 से 50 की संख्या में तृणमूल के गुंडों ने उनकी गाड़ी को घेर लिया और ईंट व पत्थरों से हमला किया। हालांकि, मुरलीधरन सुरक्षित हैं लेकिन उनके ड्राइवर को चोटें आई हैं। साथ ही उनके काफिले के साथ चल रहे कई मीडिया कर्मियों को भी चोटें आई है।

मुरलीधरन ने कहा है कि यह मेरे ऊपर नहीं, बल्कि लोकतंत्र के ऊपर हमला है।गौरतलब है कि बंगाल में रविवार को चुनाव नतीजे आने के बाद से ही लगातार हिंसा का दौर जारी है। जिस दिन पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दावा किया था कि तृणमूल के गुंडों के हमले में अब तक 14 भाजपा कार्यकर्ताओं की जानें जा चुकी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments