Friday, September 17, 2021
Homeराज्यमौसम : दिल्ली के बाद सबसे कम बरसात हरियाणा में, 57% कमी,...

मौसम : दिल्ली के बाद सबसे कम बरसात हरियाणा में, 57% कमी, 5 साल से लगातार जुलाई में ऐसे हाल

राजधानी हरियाणा : देश में दिल्ली के बाद हरियाणा में सबसे कम 57 फीसदी कम 43 एमएम बरसात हुई है। दिल्ली में 90 और देशभर में बरसात की कमी 12 फीसदी है। अब तक माॅनसून सीजन (1 जून से 30 सितंबर) के 42 दिन बीत जाने के बाद भी राज्य का एक भी जिला ऐसा नहीं है, जहां सामान्य बरसात हुई हो।

 

बहरहाल, रविवार से राज्य के कई हिस्सों में अच्छी बारिश की संभावना जताई जा रही है। हरियाणा पिछले पांच साल से जुलाई में माॅनसून की बेरुखी झेल रहा है। करीब आधे प्रदेश में जुलाई में ठीक-ठाक बरसात हो रही है, तो आधे से अधिक हरियाणा में सामान्य से कम। पांच सालों में आठ जिलों में जुलाई में सामान्य या अधिक बरसात हुई है, जबकि 13 जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई है। सालभर में करीब 180 लाख टन खाद्यान्न पैदा करने वाले हरियाणा के 16.17 लाख किसान परिवारों पर संकट आए साल बढ़ रहा है।

 

कहां कितनी बरसात

 

जिलाबारिश    कम वर्षा
फरीदाबाद9.7 मिमी90%
पंचकूला46.0 मिमी79%
मेवात24.3 मिमी76%
पानीपत30.0 मिमी74%
फतेहाबाद19.0 मिमी72%
रोहतक32.2 मिमी71%
जींद30.3 मिमी69%
सोनीपत34.5 मिमी68%
कैथल27.0 मिमी67%
झज्जर27.6 मिमी63%
गुड़गांव40.8 मिमी61%

 

 

यहां पांच साल से मानसून में कम हो रही है वर्षा 

अम्बाला, कैथल, फतेहाबाद, पंचकूला, पानीपत, रोहतक, सिरसा, सोनीपत में पिछले पांच साल में जुलाई में सामान्य से कम बरसात हुई है। वहीं कुरुक्षेत्र व महेंद्रगढ़ में चार साल से जुलाई में कम बरसात हुई है। भिवानी, गुड़गांव, हिसार, झज्जर, जींद, करनाल में दो बार ऐसी स्थिति आई है जब पांच साल में जुलाई में सामान्य से कम बरसात हुई।

 

90% कम बारिश दिल्ली में

 

राज्य         बारिशवर्षा
दिल्ली13.8 मिमी90 % कम
हरियाणा43.1 मिमी57% कम
मणिपुर245 मिमी57% कम
उत्तराखंड188.2 मिमी41% कम
यूपी209 मिमी11% अधिक
पंजाब62.2 मिमी37% कम
हिमाचल प्रदेश112.8 मिमी40% कम

 

10 लाख हेक्टेयर में खरीफ बिजाई बाकी

प्रदेश में करीब 10 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसलों की बिजाई बाकी है, जबकि लक्ष्य 30.36 लाख हेक्टेयर है। सबसे बड़ी दिक्कत धान में है। सात लाख हेक्टेयर में रोपाई हो पाई है। इससे अधिक क्षेत्र में बाकी है।

फिलहाल मॉनसून कमजोर है। राज्य में 14 जुलाई से कुछ जिलों में अच्छी बरसात हो सकती है। अभी तक सामान्य से 57 फीसदी तक कम बरसात हुई है। यह माॅनसून के कमजोर होने के कारण ही हुआ है। -डॉ. सुरेंद्र पाल, निदेशक आईएमडी चंडीगढ़

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments