Sunday, September 26, 2021
Homeपंजाबआत्महत्या : ताऊ के लाइसेंसी रिवाॅल्वर से यूथ कांग्रेस नेता किरतपाल ने...

आत्महत्या : ताऊ के लाइसेंसी रिवाॅल्वर से यूथ कांग्रेस नेता किरतपाल ने खुद काे गाेली मारी, मौत

जालंधर. जालंधर जिले के गांव रहीमपुर में यूथ कांग्रेस नेता किरतपाल सिंह उर्फ किरत टिवाणा ने अपने ताऊ के लाइसेंसी रिवाॅल्वर से खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया। परिवार ने कहा कि किरत भावुक युवक था। तीन साल पहले चाचा अमरवीर सिंह की मौत के बाद सदमे में चला गया था। वहीं 2 महीने पहले अमेरिका में किरत के जिगरी दाेस्त टिंकू की मौत के बाद उसका दिल टूट गया था। लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेजा गया है।

गांव रहीमपुर के रहने वाले 65 साल के किसान सौदागर सिंह ने कहा कि वह परिवार के साथ रहते हैं, जिनमें भाभी और भतीजा किरतपाल सिंह भी साथ थे। भतीजी कनाडा में सेटल है। शाम 4 बजे किरत खेत जोतकर ट्रैक्टर लेकर आया था। वह पोते को ट्यूशन पर छोड़ने के लिए चले गए। 15 मिनट बाद बहू हरपिंदर कौर पत्नी अरविंदर सिंह के पहली मंजिल पर बने कमरे का शीशा टूटने की आवाज सुनाई दी। बहू दौड़कर गई तो देखा कि किरत जमीन पर पड़ा था और उसके सिर से खून बह रहा था। नजदीक ही रिवाॅल्वर पड़ा था, जो उसके (सौदागर सिंह) नाम है। गोली किरत ने अपनी दाईं कनपटी पर रखकर चलाई, जो बाईं ओर से निकल गई।

बहू ने उन्हें फाेन कर पूरे मामले की जानकारी दी तो वह भतीजे को प्राइवेट अस्पताल में लेकर पहुंचे। वहां पर डाॅक्टरों ने किरतपाल काे मृत घाेषित कर दिया। किरत को उसके दोस्त प्यार से एमएलए साब कहकर बुलाते थे। जहां आत्महत्या के कारण की बात है, परिवार ने कहा कि किरत भावुक युवक था। तीन साल पहले चाचा अमरवीर सिंह की मौत के बाद सदमे में चला गया था। वहीं 2 महीने पहले अमेरिका में किरत के जिगरी दाेस्त टिंकू की मौत के बाद उसका दिल टूट गया था। किरत ने डिप्रेशन में ऐसा कदम उठाया है। किसी का कोई कसूर नहीं है।

एक ओर 19 जनवरी को उसने अपना जन्म दिन मनाया था। किरत की सुसाइड की खबर सुनते ही उसके घर पर दोस्तों का तांता लग गया। किरत के दोस्तों ने कहा कि कभी सोचा नहीं था कि दो हफ्ते पहले बर्थ-डे सेलिब्रेट करने वाला इतनी जल्दी साथ छोड़ देगा। पुलिस ने भी कोई कार्रवाई नहीं करते हुए लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेज दिया।

इस बारे में करतारपुर के एसएचओ पुष्प बाली ने कहा कि कोई सुसाइड नोट वगैरह भी नहीं मिला है। परिवार इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं चाहता। फिलहाल सीआरपीसी की धारा-174 के तहत रिपाेर्ट दर्ज कर जांच शुरू की है। लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेजा गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments