Monday, June 24, 2024
Home Blog

हरियाणा के CM नायाब सैनी, मंत्री व विधायकों के साथ करेंगे अयोध्या का दौरा

अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन और रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद से वहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिल रही है. हर कोई बस अपने रामलला की एक झलक पाना चाहता है। ऐसे में हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सैनी भी अपनी टीम के साथ अयोध्या में राम मंदिर दर्शन के लिए कल सुबह फ्लाइट पकड़ेंगे। मुख्यमंत्री नायब सैनी चंडीगढ़ एयरपोर्ट से कल सुबह 6:00 बजे अयोध्या के लिए रवाना होंगे।

आपको बता दें कि जनवरी में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के बाद हरियाणा सरकार की ओर से मंत्रियों व विधायकों के अयोध्या जाने का कार्यक्रम तय हुआ था। लेकिन श्रद्धालुओं की भीड़ की वजह से कार्यक्रम रद्द करना पड़ा था। उसके बाद हरियाणा सरकार के मंत्री और विधायक लोकसभा चुनाव में जुट गए। इस वजह से मंत्रियों को दर्शन नहीं हो पाए थे।

दरअसल मुख्यमंत्री नायब सिंह ने 18 जून को मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत अयोध्या धाम के लिए एसी बस को रवाना किया। इसमें 38 तीर्थ यात्री थे। दरअसल हरियाणा सरकार ने श्रद्धालुओं को निशुल्क तीर्थ यात्रा करवाने के लिए मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना की शुरुआत पूर्व सीएम मनोहर लाल के जन्मदिन पर की थी। इस योजना के तहत पूर्व सीएम मनोहर लाल ने अपने पब्लिसिटी एडवाईजर तरूण भंडारी के साथ अयोध्या यात्रा के लिए पंचकूला से बस को झंडी दिखाकर पहले जत्थे को रवाना किया था। इस बस में सभी तीर्थ यात्री पंचकूला से अंबाला कैंट तक पहुंचे, उसके बाद रेल के माध्यम से इन यात्रियों ने अयोध्या तक का सफर तय किया, जिसका सारा खर्च हरियाणा सरकार ने वहन किया।

आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत धार्मिक स्थलों की यात्रा करवाई जा रही है। योजना का लाभ लेने के लिए आयु 60 वर्ष से अधिक होनी चाहिए और परिवार की आय एक लाख 80 हजार रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। ऐसे श्रद्धालुओं को मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य है। अभी तक अनेक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा चुके हैं।

वही आपको बता दें कि हिसार एयरपोर्ट के सेकंड फेज का कार्य पूरा हो गया है। तय हुआ है कि तीन फेज में बनने वाले एयरपोर्ट से पहली उड़ान श्रीराम के नाम की होगी। पहली फ्लाइट हिसार से अयोध्या के लिए जाएगी। अगस्त से ये शुरू हो जाएगी।

हर तरफ छाई प्रभास की दोस्त Bujji, कल्कि मूवी के लिए डिजाइन की गईं 12 अलग-अलग गाड़ियां

Bujji इलेक्ट्रिक कार इन दिनों हर तरफ छाई हुई है। यह एक इलेक्ट्रिक कार है। बुज्जी को महिंद्रा रिसर्च वैली और कोयंबटूर की जयम ऑटोमोटिव्स कंपनी ने मिलकर बनाया है। यह इलेक्ट्रिक कार तमिलनाडु में बनाई गई है। इस कार को बनाने में 7 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। बुज्जी सुपरस्टार प्रभास की फिल्म Kalki 2898 AD के लिए खास तौर पर डिजाइन की गई है। इस फिल्म के लिए 12 अलग-अलग गाड़ियां डिजाइन की गईं हैं, जिनमें से 5 रनिंग कंडीशन में हैं। ये गाड़ी स्पेशली प्रमोशन के लिए डिजाइन की गई। कल्कि मूवी का 2 पार्ट भी आने वाला है, जिसमें ये गाड़ी दिखाई जाएगी। 1 पार्ट में जो गाड़ी दिखाई गई है वो ऐसी ही एक और गाड़ी है। मतलब दो बुज्जी बनाई गईं हैं।

फिल्म में बुज्जी की भूमिका

फिल्म Kalki 2898 AD में बुज्जी प्रभास के कैरेक्टर भैरवा के भरोसेमंद और सबसे अच्छे दोस्त की महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। कीर्ति सुरेश ने बु्ग्गी को अपनी आवाज दी है। यह इलेक्ट्रिक कार फ्यूचरिस्टिक और काफी विशाल है, जो अपने विशाल पहियों के साथ बहुत ही असामान्य दिखती है। ऐसा लगता है जैसे बैटमैन फिल्मों के बैटमोबाइल से प्रेरित हो। वाहन के कॉकपिट पर एक पारदर्शी छतरी है, जो ऐसा लगता है कि लड़ाकू विमानों के डिजाइन से प्रेरणा ली गई है।

PunjabKesari

टॉप स्पीड और साइज

बुज्जी में एक 47 kWh बैटरी पैक है, जो इलेक्ट्रिक मोटर्स के साथ मिलकर 126 bhp का पीक पावर और 9,800 Nm का अधिकतम टॉर्क जेनरेट करता है। वहीं साइज की बात करें तो इस इलेक्ट्रिक कार की लंबाई 6,075 मिमी, चौड़ाई 3,380 मिमी और ऊंचाई 2,186 मिमी है। जयम ऑटोमोटिव्स ने खुलासा किया है कि वाहन 45 किमी प्रति घंटा की टॉप स्पीड तक पहुंच सकती है। साथ ही इस वाहन में बैटरी स्वैपिंग टेक्नोलॉजी दी गई है। इस गाड़ी का वजन 6 टन है।

PunjabKesariबता दें फिल्म Kalki 2898 AD में प्रभास के अलावा दीपिका पादुकोण और अमिताभ बच्चन की भी अहम भूमिका है। यह फिल्म 27 जून को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है।

Sukma Naxal Attack : नक्सलियों ने जवानों के ट्रक को निशाना बनाकर विस्फोट किया, CRPF के दो जवान शहीद

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों द्वारा आईईडी ब्लास्ट ( IED) किया गया है। जवानों की मूवमेंट के बीच नक्सलियों द्वारा सिलगेर इलाके में यह ब्लास्ट किया गया है। नक्सलियों ने जवानों के ट्रक को निशाना बनाकर विस्फोट किया है। इस घटना में सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए हैं जबकि कई जवानों के घायल होने की खबर है।

NEET UG Row : राजकोट में दोबारा नीट कराने के खिलाफ छात्रों का विरोध प्रदर्शन

नीट यूजी परीक्षा में कथित गड़बड़ियों को लेकर जगह-जगह पर छात्रों का विरोध प्रदर्शन जारी है। कुछ छात्र परीक्षा दोबारा कराने की मांग कर रहे हैं तो कुछ री-एग्जाम का विरोध कर रहे हैं। रविवार को गुजरात के राजकोट में भी छात्रों ने दोबारा परीक्षा कराने को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों का कहना है कि उन्होंने मेहनत से परीक्षा दी और अंक हासिल किए, ऐसे में दोबारा परीक्षा नहीं होनी चाहिए।

नीट-यूजी की एक अभ्यर्थी पलक ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, ‘मैंने नीट-यूजी परीक्षा में 682 अंक हासिल किए हैं। दोबारा परीक्षा नहीं होनी चाहिए, क्योंकि हमने कड़ी मेहनत और समर्पण के साथ ये अंक हासिल किए हैं। जिन छात्रों ने 600 से कम अंक हासिल किए हैं, वे दोबारा नीट कराने की मांग कर रहे हैं। 1.5 महीने के अंतराल के बाद दोबारा अच्छा स्कोर करना आसान नहीं होगा। यह हमारे भविष्य के साथ खिलवाड़ करने जैसा है।’

नतीजों में सामने आई थीं गड़बड़ियां

गौरतलब है कि राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी द्वारा NEET-UG 2024 परीक्षा का आयोजन 5 मई को कराया गया था। वहीं, इसके परिणाम 4 जून को घोषित किए गए थे। नतीजों के बाद अनियमितताओं और पेपर लीक के आरोपों पर बवाल मच गया। नतीजों से पता चला कि 67 छात्रों ने 720 अंकों के साथ परीक्षा में टॉप किया है। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 1,500 से अधिक छात्रों की दोबारा परीक्षा की अनुमति दी थी, जिन्हें ग्रेस मार्क्स दिए गए थे।

केंद्र का एक्शन
इस बीच परीक्षा स्थगित करने को लेकर कई राज्यों में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच केंद्र सरकार ने कड़े एक्शन लेते हुए एनटीए के महानिदेशक सुबोध कुमार सिंह को हटा दिया। उनकी जगह प्रदीप सिंह खरोला को एनटीए का नया महानिदेशक बनाया गया है। साथ ही सरकार ने परीक्षाओं में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है।
हाई लेवल कमेटी का गठन

शिक्षा मंत्रालय ने परीक्षाओं के पारदर्शी और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए इसरो एवं आईआईटी कानपुर के पूर्व अध्यक्ष डॉ के राधाकृष्णन की अध्यक्षता में विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। साथ ही नीट यूजी परीक्षा 2024 में कथित अनियमितताओं की जांच भी सीबीआई को सौंपी गई है। सरकार ने परीक्षा से संबंधित किसी भी अनियमितता में शामिल पाए जाने वाले व्यक्ति के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

MP : दो ट्रेनों में मिली महिली के शव में बड़ा खुलासा, साइको किलर ने हत्या कर लगाया था ठिकाने

मध्य प्रदेश के उज्जैन में दुष्कर्म में नाकाम रहने पर एक महिला की हत्या के बाद उसके शव के टुकड़े अलग-अलग यात्री ट्रेनों में रखने के आरोप में राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने रविवार को 60 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया। जीआरपी के एक अधिकारी ने बताया कि 37 वर्षीय महिला के दोनों हाथ और दोनों पैर ऋषिकेश में एक यात्री ट्रेन में 10 जून को मिले थे, जबकि उसके शरीर के बाकी हिस्से उत्तराखंड की इस धार्मिक नगरी से करीब 1,150 किलोमीटर दूर इंदौर में एक अन्य यात्री ट्रेन से नौ जून को बरामद किए गए थे।

जीआरपी की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक संतोष कोरी ने बताया कि महिला के नृशंस हत्याकांड के आरोप में कमलेश पटेल (60) को उज्जैन से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि रतलाम जिले की रहने वाली महिला अपने पति से झगड़े के बाद छह जून को अपना घर छोड़कर चली गई थी और तलाश किए जाने पर उसका कोई पता नहीं चलने के बाद उसके परिवार ने 12 जून को बिलपांक पुलिस थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

कोरी ने बताया, ‘‘पति से झगड़े के बाद महिला उज्जैन पहुंची और मथुरा जाने के लिए रेलवे स्टेशन पर बैठी थी। पटेल महिला को फुसला कर अपने घर ले गया और उसे भोजन में नींद की गोली मिलाकर दे दी।” उन्होंने बताया कि महिला को नींद आने पर पटेल ने उससे दुष्कर्म का प्रयास किया, लेकिन महिला की नींद खुल गई और उसने शोर मचा दिया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पटेल ने रस्सी से गला घोटकर महिला की हत्या कर दी तथा छुरे से उसकी लाश के टुकड़े करके इंदौर-नागदा यात्री ट्रेन और इंदौर-देहरादून यात्री ट्रेन में रख दिए ताकि उसकी पहचान न हो सके। उन्होंने बताया कि पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल छुरा और अन्य अहम सबूत बरामद किए हैं और विस्तृत जांच जारी है।

श्रीलंका में अवैध रूप से मछली पकड़ने के आरोप में 18 भारतीय मछुआरे गिरफ्तार

0

श्रीलंकाई नौसेना ने अपने जलक्षेत्र में अवैध रूप से मछली पकड़ने के आरोप में 18 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया है और मछली पकड़ने वाली उनकी तीन नौकाओं को जब्त कर लिया है। मीडिया की एक रिपोर्ट में रविवार को यह जानकारी दी गयी। समाचार पोर्टल ‘द न्यूज फर्स्ट’ की रिपोर्ट के अनुसार मछुआरों को शनिवार रात चलाए गए तलाशी अभियान के दौरान डेल्फ्ट द्वीप के पास उत्तरी सागर से गिरफ्तार किया गया। श्रीलंका की नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन गायन विक्रमसूर्या ने कहा कि गिरफ्तार मछुआरों को आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए कांकेसंतुरई बंदरगाह ले जाया जाएगा।

पिछले सप्ताह, चार भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया गया था और श्रीलंकाई नौसेना ने द्वीपीय देश के जलक्षेत्र में अवैध शिकार करने के आरोप में उनके ट्रॉलर (मछली पकड़ने में इस्तेमाल की जाने वाली नौका) को जब्त कर लिया था। श्रीलंकाई अधिकारियों ने बताया कि ताजा घटना से पहले 2024 में श्रीलंकाई जलक्षेत्र में अवैध रूप से मछली पकड़ने के आरोप में 180 से अधिक भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया गया था और उनके 25 ट्रॉलर जब्त किए गए थे।

इनमें से अधिकतर घटनाएं पाक जलडमरूमध्य में होती हैं, जो तमिलनाडु को श्रीलंका के उत्तरी सिरे से अलग करने वाली एक संकरी जलपट्टी है। यह दोनों देशों के मछुआरों के लिए मछली पकड़ने का एक बेहतर स्थान है। मछुआरों का मुद्दा भारत और श्रीलंका के बीच संबंधों में एक विवादास्पद मुद्दा है, जिसमें श्रीलंकाई नौसेना के जवान कभी-कभी पाक जलडमरूमध्य में भारतीय मछुआरों पर गोलीबारी भी करते हैं और अवैध रूप से श्रीलंका के जलक्षेत्र में प्रवेश करने के लिए उनकी नौकाओं को जब्त कर लेते हैं।

तमिलनाडु में जहरीली शराब पीने से अब तक 56 लोगों की मौत

0

तमिलनाडु के कल्लाकुरिचि जिले में जहरीली शराब पीने से अब तक 56 लोगों की मौत चुकी है, जबकि 140 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। दिन प्रतिदिन बढ़ती मृतकों की संख्या से प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है। इसी मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने विपक्षी दल इंडिया ब्लॉक पर निशाना साधा है।

देश में 32 से अधिक दलित मारे जाते हैं, तो मैं इसे हत्या कहूंगा: भाजपा सांसद संबित पात्रा
भाजपा सांसद संबित पात्रा ने कहा कि इस मुद्दे पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और इंडिया ब्लॉक के दूसरे नेताओं की ‘चुप्पी’ ‘काफी चौंकाने वाली’ है। पात्रा ने मौतों को हत्या करार देते हुए कहा कि ज़्यादातर पीड़ित अनुसूचित जाति के थे। भाजपा नेता ने एक प्रेस वार्ता में कहा, “अगर इस देश में 32 से अधिक दलित मारे जाते हैं, तो मैं इसे हत्या कहूंगा, यह मौत नहीं है।”

जहरीली शराब पीने से 193 लोगों की बिगड़ी थी तबीयत
मामले में जानकारी देते हुए DM MS प्रशांत ने बताया कि बीते मंगलवार को अवैध देशी शराब पीने से 193 लोग बीमार पड़ गए थे। आनन-फानन में उन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान अब तक 56 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि इस घटना के सिलसिले में अब तक 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

शराब में जहरीला मेथनॉल मिलाया गया था: तमिलनाडु CM
इस त्रासदी को लेकर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने पुष्टि की कि स्थानीय रूप से बनाई जाने वाली शराब में जहरीला मेथनॉल मिलाया गया था, जिसके कारण मंगलवार को अवैध शराब पीने के कुछ ही घंटों बाद 37 लोगों की मौत हो गई। वहीं,  AIADMK प्रमुख पलानीस्वामी ने सीबीआई जांच की मांग को दोहराते हुए राज्य द्वारा नियुक्त एक सदस्यीय आयोग की जांच को सच्चाई को उजागर करने के लिए अपर्याप्त बताते हुए खारिज कर दिया। उन्होंने दावा किया कि मेथनॉल के लिए एंटीडोट सहित आवश्यक दवाएं जरूरत के समय उपलब्ध नहीं थीं।

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री ने पलानीस्वामी का उड़ाया मजाक
तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री मा सुब्रमण्यम ने AIADMK प्रमुख पलानीस्वामी को ‘चिकित्सा विशेषज्ञ’ कहकर उनका मजाक उड़ाया, क्योंकि उन्होंने दावा किया था कि राज्य में मेथनॉल विषाक्तता के लिए एंटीडोट की कमी है। सुब्रमण्यम ने कहा कि पलानीस्वामी ‘ओमेप्राजोल’ को ‘फोमेपिज़ोल’ के साथ भ्रमित कर रहे हैं, जबकि फोमेपिज़ोल ही मेथनॉल के लिए वास्तविक एंटीडोट है। वहीं, केरल के आबकारी मंत्री एम.बी. राजेश ने अधिकारियों को नकली शराब के प्रवाह को रोकने के लिए पूरे राज्य में निगरानी बढ़ाने और छापेमारी करने का निर्देश दिया है।

बता दें कि बीते शनिवार को भारतीय जनता पार्टी ने राज्य के मद्य निषेध और आबकारी मंत्री एस मुथुसामी के तत्काल इस्तीफे की मांग की है। साथ ही राज्य में सत्तारूढ़ द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (द्रमुक) पर दोषियों को बचाने का आरोप लगाया है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रदेश में हुई इन मौतों को ‘राज्य प्रायोजित हत्या’ करार दिया है। उन्होंने इस त्रासदी के लिए सत्तारूढ़ द्रमुक को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि, ‘अब तक 53 लोगों की मौत हो चुकी है और उनमें से अधिकांश अनुसूचित जाति के थे। इस राज्य प्रायोजित हत्या पर कार्रवाई करने के बजाय द्रमुक इस जघन्य अपराध के खलनायकों को बचाने में लगी हुई है। उन्होंने प्रदेश में पहले भी हुई ऐसी घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि शराब माफिया और द्रमुक नेताओं के बीच सांठगांठ है। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (एनसीएससी) को घटना का स्वत: संज्ञान लेना चाहिए और तमिलनाडु सरकार तथा राज्य पुलिस प्रमुख को नोटिस जारी करके पूछना चाहिए कि इन मौतों के लिए कौन जिम्मेदार है। उन्होंने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है।

NEET को लेकर केंद्र सरकार की कार्रवाई को कमलनाथ ने बताया खानापूर्ति

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने NEET परीक्षा को लेकर केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा, कांग्रेस नेता कमलनाथ ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा है कि  NEET परीक्षा को लेकर केंद्र सरकार की अब तक की कार्रवाई खानापूर्ति जैसी प्रतीत हो रही है। अब तक इतनी बात स्पष्ट हो चुकी है कि NEET परीक्षा का पेपर लीक हुआ था और सरकार ने जिस तरह से NTA के महानिदेशक को हटाया है और परीक्षा में हुई कुछ गड़बड़ियों की जाँच CBI को सौंपी है उस से स्पष्ट है कि सरकार ने भी पेपर लीक होना स्वीकार कर लिया है।

लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि पेपर लीक होने से सबसे ज़्यादा नुक़सान उन अभ्यर्थियों का हुआ है जो इस परीक्षा में शामिल हुए थे। सरकार की अब तक की कार्रवाई से अन्याय का शिकार हुए इन छात्रों को कोई भी न्याय मिलता प्रतीत नहीं होता। हो सकता है कि सरकार की कार्रवाई से परीक्षा में धाँधली करने वाले कुछ लोग क़ानून के शिकंजे में आ जाएं।

लेकिन इससे उन छात्रों को कोई फ़ायदा नहीं होगा जो योग्य होने के बावजूद NEET परीक्षा में सफल नहीं हो सके। इन अभ्यर्थियों को न्याय दिलाने का एक ही तरीक़ा है कि NEET की परीक्षा को रद्द कर नए सिरे से आयोजित किया जाए। सरकार को इसे प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाने के बजाय अभ्यर्थियों को न्याय देने का प्रश्न बनाना चाहिए और नए सिरे से परीक्षा करानी चाहिए।

किरण चौधरी के कांग्रेस छोड़ने से भूपेंद्र हुड्डा को नहीं कोई फर्क, नेता प्रतिपक्ष ने पार्टी को बताया मजबूत

अंबाला में आज कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा कार्यकर्ताओं सम्मेलन करने व अंबाला लोकसभा में चुनाव जितवाने के लिए कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करने पहुंचे। इस दौरान अंबाला लोकसभा सांसद वरुण चौधरी भी मौजूद रहे। इसके पश्चात कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रेसवार्ता को भी संबोधित किया। हरियाणा में कांग्रेस 5 लोकसभा सीट जीतने के बाद गदगद है और तेजी से विधानसभा की तैयारी को लेकर कार्यकर्ताओं से बैठक कर रही है।

आज अंबाला में भी कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा कार्यकर्ताओं सम्मेलन करने व अंबाला लोकसभा में चुनाव जीतने के लिए कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करने पहुंचे। इस दौरान अंबाला लोकसभा सांसद वरुण चौधरी भी मौजूद रहे। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान ने कहा कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया गया है विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं को आगाह किया गया है।

हरियाणा में लगातार हो रही घोषणाओं पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा घोषणाओं से कुछ नहीं होगा जनता इन्हें नकार चुकी है। लोकसभा में ये हाफ हो गए विधानसभा में साफ हो जाएंगे। वहीं परीक्षाएं लीक होने व रद्द होने पर हुड्डा ने कहा यह सरकार के सबसे बड़े घोटाले हैं।

किरण चौधरी के कांग्रेस से जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा एक आध के जाने पर कोई फर्क नही पड़ता। वहीं कुमारी सैलजा द्वारा टिकट वितरण पर सवाल उठाने के सवाल पर हुड्डा ने कहा टिकट वितरण का फैंसला हाईकमान का था।

शिमला में पुलिस ने यहां पकड़ी चिट्टे की बड़ी खेप, पंजाब के 2 युवक गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में चिट्टे का कारोबार बढ़ता जा रहा है। आए दिन पुलिस शहर में चिट्टे का नशा करने और बेचने वालों को पकड़ रही है। इस कड़ी में शिमला पुलिस ने 2 युवकों से चिट्टे की बड़ी खेप पकड़ी है। पुलिस ने शिमला के संजौली से पंजाब के 2 युवकों को 46.82 ग्राम चिट्टे के साथ गिरफ्तार किया है तथा उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। स्थानीय लोगों के अनुसार ये युवक आसपास के युवकों को भी चिट्टा सप्लाई करते थे और काफी समय से संजौली के सांगटी में नशे का कारोबार कर रहे थे।

पुलिस के अनुसार पुलिस की टीम ढली, संजौली और सांगटी में गश्त पर थी। इस दौरान सूचना मिली कि लोअर सांगटी में ये युवक चिट्टे का कारोबार कर रहे हैं। इस पर पुलिस ने दोनों युवकों के किराए के कमरे में छापा मारा और उन्हें 46.82 ग्राम चिट्टे के साथ गिरफ्तार किया। युवकों की पहचान बलजीत सिंह (20) और अंग्रेज सिंह (20) के रूप में हुई है। दोनों फाजिल्का पंजाब के रहने वाले हैं।

पुलिस ने युवकों से पूछताछ शुरू कर दी है। इस केस में जल्द ही कई और कड़ियां खुल सकती हैं। पुलिस यह पता लगाने का प्रयास भी कर रही हैं कि ये चिट्टा कहां से लाते थे और शिमला में किन-किन लोगों से इनके तार जुड़े हैं।

- Advertisement -

News of the Day